कोरो’ना काल के इस दौर में पूरी दुनिया कोरो’ना संक्रम’ण के चपे’ट में आती जा रही है। पूरी दुनिया मे कोरो’ना संक्रमि’त म’रीज़ों की संख्या बढ़ कर अब 1.1 करोड़ से ज़्यादा हो गयी है और रोज़ बड़ी संख्या में नए कोरो’ना संक्र’मित म’रीज़ों की पुष्टि हो रही हैं। सभी देश के साइंटिस्ट इससे मुक्त होने के लिए वैक्सीन बनाने में लगे हुए हैं। वहीं वैज्ञानिकों द्वारा एक खबर मिली है कि उन्होंने तस्दीक की है कि कोरो’ना वाय’रस मच्छरों के काटने से नही फैल सकता।कोरो’ना के उस दौर में जब लोगों में कोरो’ना को लेकर दहशत पहेली हुई है। वही इस खबर से एक राहत मिली है। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization, WHO) द्वारा भी इस बात का दावा किया गया है कि कोरो’ना मच्छरों के काटने से नही फैल सकता।

यह स्टडी साइंटिफिक रिपोर्ट्स (Journal Scientific Reports) शोध पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। अमेरिका के कंसास स्टेट यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक और शोध पत्र के सह लेखक स्टीफेन हिग्स (Stephen Higgs) द्वारा कहा गया है कि, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पक्के तौर पर कहा है यह महामा’री मच्छरों के काटने से नहीं फैल सकती है। हमने जो अध्ययन किया है। उसमें इस दावे को पुष्ट करने के लिए पहली बार वैज्ञानिक प्रामाणिक प्रस्तुत किए गए हैं। कंसास स्टेट यूनिवर्सिटी के जैवसुरक्षा अनुसंधान संस्थान में की गई स्टडी में ये पता चला है कि, कोरो’ना वाय’रस मच्छरों की तीन आम प्रजातियों (Aedes aegypti, Aedes albopictus and Culex quinquefasciatus) में मौजूद रहकर प्रजनन कर पाने में असमर्थ है। इसीलिए कोरो’ना वाय’रस मच्छरों के ज़रिए नही फैल सकता है।

स्टडी में पहली बार प्रैक्टिकल तौर पर जुटाए गए वह आंकड़े दिखाए गए हैं जिनसे मच्छरों के द्वारा कोरो’ना फैलने की क्षमता की जां’च की जा सकती है। साइंटिस्ट का कहना है कि, यदि मच्छर किसी संक्र’मित व्यक्ति को काट ले तब भी उसके रक्त में मौजूद कोरो’ना वाय’रस मच्छर के भीतर जीवित नहीं रह सकता है और ऐसे में मच्छर किसी और व्यक्ति को काट भी ले तो उसको कोरो’ना नही हो सकता। वैज्ञानिकों के ज़रिए मच्छरों के काटने के दो घंटे के अंदर जुटाए गए नमूनों (SAMPLE) से इसकी तस्‍दीक हुई है। इससे पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization, WHO) भी ऐसा ही दावा कर चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.