दुनिया भर में चल रहा कोरोना वाय’रस का संक’ट दिन बा दिन बढ़ता ही जा रहा है। अन्य देशों की तरह भारत में भी अब ये वाय’रस ते’ज़ी के साथ फै’ल रहा है। जिसके चलते लोग इसके ख़’तम होने के अल’ग अल’ग दा’वे के रहे है। ऐसे में सिंगापुर की एक यूनिवर्सिटी ने राह’त भरी ख’बर दी है। उन्होंने दा’वा किया है कि भारत में लगभग 20 मई तक ये वाय’रस ख़’तम हो सकता है। बता दें कि फिलहाल भारत में इस वाय’रस को रो’कने के लिए 3 मई तक का लॉ’क डा’उन जा’री किया गया है।

सिंगापुर यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी एंड डिजाइन ने आर्टिफिशियल इंटे’लिजेंस के जरिये कोरोना वाय’रस के फै;लने की र’फ्तार का पता लगाया है। यूनिवर्सिटी के अनुसार ये डेटा म’रीजों के ठीक होने और उनके संक्र’मित होने पर नि’र्भर करता है। बता दें कि ये विश्ले’षण susceptible infected recovered (SIR) पर आधा’रित है। यूनिवर्सिटी का कहना है कि उन्होंने सभी देशों के डे’टा के जरिए रिसर्च की जहां कोरोना संक्र’मण काफी फै’ल चुका है। इनके रिस’र्च के मुताबिक बताया जा रहा हैं कि इटली और स्पेन में ये वाय’रस मई के पहले ह’फ्ते में ख़’तम हो सकता है।

फिलहाल भारत में कोरोना वाय’रस के माम’लों के दु’गना होने का औसत लगभग 9.1 प्रति दिन है। वहीं बता दें कि शुक्रवार सुबह आठ बजे से शनिवार सुबह आठ बजे तक देश में कोरोना वाय’रस के नए माम’लों का औसत लगभग 6 प्रतिशत पाया गया है। जो की बाक़ी आंकड़ों को देखते हुए प्रतिदिन के आधा’र पर सबसे कम औ’सत है। बता दें कि भारत में इस वाय’रस से म’रने वालों का औसत 3.1 प्रतिशत है। वहीं इस वाय’रस से मु’क्त होने वालों का औसत लगभग 20 प्रतिशत तक पहुंच गया है। जो और देशों के मुकाबले बहुत बेहत’र है। भारत में 11 राज्य ऐसे है जहां कोरोना वाय’रस से संक्र’मित लोगों की संख्या भले ही 150 हो लेकिन वहां एक भी जा’न का नुक़’सान नहीं हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.