ट्रायल कोर्ट ने किया था बरी.. हाइकोर्ट ने माना दोषी, बाहुबली मुख्तार अंसारी को सुनाई गई सज़ा…

September 21, 2022 by No Comments

इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने आलमबाग थाने के एक आप’राधिक मामले में मऊ के पूर्व विधायक माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को दो’षी करार दिया है आपको बता दें ये मामला साल 2003 में तत्कालीन जेलर एसके अवस्थी ने थाना आलमबाग में मुख्तार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी।

जेलर के अनुसार जेल में मुख्तार अंसारी से मिलने आए लोगों की तलाशी लेने का आदेश देने पर उन्हें जा’न से मा’रने की धम’की दी गई थी साथ ही उनके साथ गा’ली गलौ’ज करते हुए मुख्तार ने उन पर पि’स्तौल भी तान दी थी इस मामले में ट्रायल कोर्ट ने मुख्तार को बरी कर दिया था, जिसके खि’लाफ सरकार ने अपील दाखिल की थी।

ज़ी न्यूज़ के अनुसार कोर्ट ने आईपीसी की धारा 506 के तहत मुख्तार अंसारी को 7 साल की सजा सुनाई और 25 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है. हाईकोर्ट ने आईपीसी की धारा 353 के तहत 2 साल की सजा और लगाया 10 हजार रुपये जुर्माना लगाया है. वहीं आईपीसी की धारा 504 के तहत दो साल की सजा और 2 हज़ार रुपये का जुर्माना लगाया।

कोर्ट ने सभी सजा साथ-साथ चलने का फैसला दिया है कुल मिलाकर 7 साल की सज़ा सुनाई गई है आपको बता दें डॉन मुख्तार अंसारी अभी बांदा जेल में बंद हैं और उनकी सुरक्षा के लिए जेल प्रशासन के साथ कानपुर के एक डिप्टी जेलर की ड्यूटी लगाई गई है।

जेल प्रशासन के मुताबिक, मुख्तार की सुरक्षा में करीब 32 सुरक्षाकर्मी 24 घंटे में ड्यूटी पर लगाए गए हैं जिसमे अंदर की बैरक में रहने वाले सुरक्षाकर्मी बॉडी कैम से लैस रहते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.