चर्चित समाचार वेबसाइट और अख़बार दैनिक भास्कर ने एग्ज़िट पोल की ही पोल खोलकर रख दी है। एग्ज़िट पोल पर दैनिक भास्कर की ओर से एक रिपोर्ट जारी की गई है। ग्राफ़िक के माध्यम से संस्था ने एग्ज़िट पोल के आंकड़ों पर शंका ज़ाहिर की है।

भास्कर ने दावा किया है कि ओपिनियन पोल के ही आँकड़ों को थोड़ा बहुत बदलकर लगा दिया गया है। एक ग्राफिक के ज़रिए भास्कर ने बताया कि 70 दिन पहले हुए एक ओपिनियन पोल में भाजपा को 223-225 सीटें दी जा रही थीं और एग्ज़िट पोल में 228-244, वहीं सपा को इस ओपिनियन पोल में 145-157 सीटें मिल रही थीं जबकि एग्ज़िट पोल में 132-148।

इसके अलावा बसपा को 8-16 ओपिनियन पोल में और 13-21 एग्ज़िट पोल में सीटें मिलती दिख रही हैं। कांग्रेस को 3-7 सीटें ओपिनियन पोल में हर 4-8 एग्ज़िट पोल में। अख़बार ने लिखा है कि भाजपा में 5, सपा में 14 और बसपा में बस 5 ही सीटों का फ़र्क़ आया।

एक अन्य पोल में भाजपा को 223 सीटें ओपिनियन पोल में मिल रही हैं तो एग्ज़िट पोल में 240 वहीं सपा को 111-131 ओपिनियन पोल में और एग्ज़िट पोल में 140, बसपा को ओपिनियन पोल अधिकतम 16 सीटें दे रहा है जबकि एग्ज़िट पोल में 17। यानी कि गिनती को बस थोड़ा सा ऊपर नीचे कर दिया गया है।

एक अन्य पोल में देखें तो ओपिनियन पोल में ये भाजपा को 227 सीटें दे रहा है जबकि एग्ज़िट में 225, सपा को ये 151 सीटें दे रहा है ओपिनियन में और इतनी ही सीटें दे रहा है एग्ज़िट पोल में। इसके अलावा बसपा को दो न ही समय 14 सीटें दे रहा है।

अख़बार ने इसी तरह से कुछ और पोल्स की पोल पट्टी भी खोली है। कुल मिलाकर एग्ज़िट पोल पर अब उन लोगों को भी विश्वास नहीं हो रहा है जो लगातार चुनाव को कवर कर रहे थे।