एक बादशाह ने बहुत खूबसूरत महल बनवाया, जो जाता उसको अपनी जान गवानी पड़ती, लेकिन फिर एक दिन….

September 3, 2022 by No Comments

कहते हैं एक बादशाह था उसने बहुत ही खूबसूरत महल बनवाया था जो देखता तो उसको देखता ही रह जाता था महल नहीं बल्कि जन्नत का टुकड़ा था जो भी गया उसको देखता रहता और हैरत में पड़ जाता लेकिन बादशाह ने एक शर्त रखी थी जो शख्स महल को दिए हुए टाइम में पूरा देख लेगा उसे महल दे दिया जाएगा लेकिन जो उस दिए हुए टाइम में पूरा महल नहीं देख पाएगा उसकी गर्दन उड़ा दी जाएगी

बहुत से नौजवान और दूसरे लोग लालच में मना करने के बावजूद महल देखने के लिए गए और दिए गए हुए टाइम पर उन्होंने पूरे महल को नहीं देख पाए जिसकी वजह से आखिर में उनको अपनी जान गवानी पड़ी इस बात का चर्चा दूर दूर तक होने लगा तो गांव का एक नौजवान तक भी ये खबर पहुंची नौजवान ने जब पूरी बात सुनी और उसकी सच्चाई को जाना तो बादशाह के महल पर पहुंचा तमाम लोगों ने उसको मना किया कि तुमसे पहले भी कई लोग इस महल को देखने के चक्कर में अपनी जान गवा बैठे हैं तुम भी दिए हुए टाइम पर नहीं देख पाओगे लेकिन लड़का धुन का पक्का था उसने दिए हुए टाइम पर महल देखने का फैसला किया और उसे महल पहुंचा दिया गया।

तो लड़के ने पूरे महल को उसके दीवार कमरे फानूस कुमकुमे कालीन तालाब बाग यहां तक की जितनी भी महल की चीजें थी सब को देख लिया और वक्त से पहले ही बादशाह के सामने खड़ा हो गया बादशाह और तमाम दरबारी सन्नाटे में आ गए बादशाह ने कहा मैं अभी अपनी शर्त पर कायम हूं महल अब तेरा है मगर यह बात समझ में नहीं आई तुमने वक्त खत्म होने से पहले ही इतना खूबसूरत महल कैसे देख लिया जबकि तुम से पहले कई लोग महल देखने गए उस की खूबसूरती में खो गए कोई बाग देखता ही रह गया कोई तालाब देखता रह गया।

बादशाह की बात सुनकर नौजवान ने तेज आवाज में हंसा उसने कहा बादशाह सलामत मुझसे पहले जितने लोग आए सब बेवकूफ थे को महल की खूबसूरती में खो गए और अपनी जान गवां दी उसने कहा बादशाह सलामत जब मैं महल के दरवाजे के अंदर दाखिल हुआ तो मैंने अपने आंखें बंद कर ली और पूरा महल आंख बंद करके देख आया मैं इतना बेवकूफ नहीं जो महल की खूबसूरती में खो कर अपनी जान गवा बैठूं उसने कहा बादशाह सलामत अब ये महल मेरा है अब मैं इसको जी भर देखता रहूंगा

तो मेरे दोस्तों वह महल दुनिया है बादशाह वह करीम ज़ात है और महल की खूबसूरती में खो जाने वाले हम इंसान और आंख बन्द करके महल देख आने वाला वो कामयाब इंसान है जो इस दुनिया की खूबसूरती में खो नहीं जाते बल्कि अपनी जिंदगी को मकसद में गुजारते हैं यहां तक कि वो रब्बे कायनात की हुजूर पहुंच जाते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.