जिओ के आने के बाद से ही अन्य दूरसंचार कंपनियां जैसे एयरटेल,आइडिया और बीएसनल घाटे में चल रही हैं।जिओ के आने के लगभग 2 साल बाद भी कंपनियों का घाटा रुकने का नाम नहीं ले रहा है।लगातार अन्य कंपनियों के गिरते व्यापार स्तर को देखते हुए TRAI ने नया नियम लागू किया है। यह नया नियम उन उपभोक्ताओं के लिए परेशानी खड़ा कर सकता है जो एक साथ दो सिम यूज करते हैं।

दरअसल,सभी टेलीकॉम कंपनियों ने ग्राहकों से कमाई जारी रखने के लिए हर महीने कम से कम 35 रुपए का रिचार्ज करना अनिवार्य कर दिया है।इस 35 रुपए के रिचार्ज में ग्राहकों को 26 रुपए का बैलेंस और 28 दिन की वैधता मिलेगी।28 दिन पूरे होने के बाद यदि कोई ग्राहक नया रिचार्ज नहीं करता है तो बैलेंस होने का बावजूद उसकी आउटगोइंग सेवा बंद कर दी जाएगी।यदि कुछ समय बाद भी रिचार्ज नहीं किया जाता है तो उस ग्राहक की इनकमिंग सेवा भी बंद कर दी जाएगी।

उल्लेखनीय है कि,रिलायंस जियो से मुकाबला लेने के लिए एयरटेल,वोडाफोन,आइडिया ने पिछले दो साल में अपने कॉल्स के साथ ही डाटा दरों में भी भारी कटौती की है लेकिन इन कंपनियों का न सिर्फ यूजर बेस गिरा है बल्कि इन कंपनियों को भारी घाटा भी उठाना पड़ा है।इससे जो लोग बिना बैलेंस के दो या इससे ज्यादा सिम रखते है उनके लिए है ये बुरी खबर.अब से 1 सिम की बजाए बाकी सिम पर हर महीने 35 रूपये का रिचार्ज करना ही पड़ेगा. इस 35 रूपये के प्लान में आपको मिलेगा 26 रूपये का टॉकटाइम पर इसकी वैलिडिटी 28 दिन की ही होगी।

ट्राई ने एयरटेल औरवोडाफोन,दोनों कंपनियों को निर्देश दिया है कि वे ग्राहकों बताएं कि प्रीपेड खाते के न्यूनतम रीचार्ज प्लान के जरिए अन्य उपलब्ध प्लान का फायदा कैसे उठाए जाए।इसके साथ ही ट्राई ने भारतीय एयरटेल और वोडाफोन आइडिया से कहा है कि उसके निर्देशों का पालन होने तक कंपनियां उन ग्राहकों की सेवाएं बंद नहीं करें जिनके अकाउंट में न्यूनतम रीचार्ज राशि के बराबर राशि नहीं है।जल्दी ही नियम लागू हो जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.