एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे के बीच विवाद गहराया, अब मुंबई नहीं बल्कि..

July 6, 2022 by No Comments

नई दिल्ली: शिवसेना किसकी है? ये ऐसा सवाल है जिसका जवाब ख़ुद शिवसेना के नेता भी जानना चाहते हैं. देखा जाए तो इस पार्टी को बाल ठाकरे ने शुरू किया था और बाल ठाकरे ने अपने जीवनकाल में ही अपना उत्तराधिकारी उद्धव ठाकरे को बनाया था लेकिन हाल ही में पार्टी में एक ऐसा विवाद हो गया जिसकी उम्मीद शायद ही किसी ने की हो.

उद्धव ठाकरे के भरोसेमंद माने जाने वाले एकनाथ शिंदे ने पार्टी के ख़िलाफ़ बड़ी बग़ावत कर दी और अपने साथ शिवसेना के दो-तिहाई से अधिक विधायकों को ले गए. उन्होंने उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास अघाड़ी की सरकार भी गिराई और ख़ुद भाजपा के साथ मिलकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बन गए. शिंदे इतने पर ही नहीं रुके, उन्होंने पार्टी पर भी अपना दावा ठोक दिया.

वो कह रहे हैं कि शिवसेना उनकी है क्यूँकि बहुमत उनके पास है वहीं उद्धव ठाकरे और उनके समर्थक कह रहे हैं कि शिवसेना उनकी है. महाराष्ट्र में चली उथल पुथल थोड़ी शांत होती दिख रही है तो दिल्ली में ये उथल पुथल बढ़ गई है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शिवसेना के सांसद भी अब उद्धव ठाकरे गुट के विरोध में होते दिख रहे हैं.

ऐसे में उद्धव ठाकरे गुट ने सांसदों के बागी होने की संभावनाओं के बीच शिवसेना के नए व्हिप प्रमुख का नाम आगे किया है. शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने बुधवार को लोकसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर सूचित किया कि पार्टी ने राजन विचारे को नया व्हिप प्रमुख बनाया है. इससे पहले यह जिम्मेदारी भावना गवली के पास थी.

Leave a Comment

Your email address will not be published.