एकनाथ शिंदे के विधायकों ने कह दिया साफ़-‘चाहे भाजपा के साथ सरकार रहे या नहीं लेकिन हम..’

July 12, 2022 by No Comments

महाराष्ट्र में जिस तरह सत्ता परिवर्तन हुआ है वैसा शायद ही पहले कभी भारतीय इतिहास में हुआ हो. एकनाथ शिंदे ने शिवसेना से बग़ा’वत की और पहले गुजरात फिर असम और अंत में गोवा जमा हुए. शिंदे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और उसके बाद ही उनके समर्थन वाले शिवसेना विधायक मुंबई आए. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के ख़िलाफ़ इस तरह की बग़ाव’त की शायद ही किसी ने उम्मीद की हो. परन्तु राजनीति में वो भी हो जाता है जिसकी उम्मीद किसी ने न की हो.

एकनाथ शिंदे की सरकार बन गई है और ऐसा माना जा रहा है कि इस सरकार में सत्ता की असली चाबी भाजपा के हाथ में है. शिंदे गुट को इससे ख़ास परेशानी नहीं दिखती है लेकिन शिंदे कैम्प के कुछ विधायक ऐसे ज़रूर हैं जो भाजपा के नेताओं की बयानबाज़ी से ख़ुश नहीं हैं. उद्धव ठाकरे के बारे में भाजपा नेता किरीट सोमैया के एक ट्वीट से शिंदे गुट के कुछ विधायक नाराज़ हो गये हैं.

किरीट सोमैया ने अपने एक ट्वीट में उद्धव ठाकरे के लिये माफ़िया शब्द का इस्तेमाल किया था, जिसका जवाब देते हुए शिवसेना के दो विधायकों ने एतराज़ जताया है. बुलढाना के शिवसेना विधायक संजय गायकवाड़ और शिवसेना विधायक अब्दुल सत्तार ने ट्वीट पर नाराज़गी ज़ाहिर की है. संजय गायकवाड़ ने तो यहां तक कह दिया कि भले ही हम उद्धव ठाकरे के साथ नही हैं, लेकिन अभी पार्टी हमारी एक है.

संजय गायकवाड़ ने कहा कि किरीट सोमैया से हम यह बोलना चाहते हैं कि हम भले ही शिवसेना से अलग होकर दूसरा गुट बना चुके हैं, लेकिन अभी भी हम शिवसेना में हैं. अभी आप यह न सोचें कि बाला साहब ठाकरे उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे के बारे में हमारा सम्मान कम हो गया है. हमने भले ही बीजेपी के साथ सरकार बनाई है, लेकिन जिस पार्टी से हम आए हैं और बड़े हुए हैं उस पार्टी के बारे में हम ग़लत नहीं सुन सकते. हमारी उनसे इस बारे में विनम्र विनती है. हमें सत्ता का कोई मोह नहीं है, यह सारी बातें हम बर्दाश्त नहीं कर सकते.

अब्दुल सत्तार ने कहा कि किरीट सोमैया साहब ने जो बोला है वह ग़लत बोला है. कोई आए या जाए किसी के बारे में ऐसा शब्द किसी को बोलना नहीं चाहिए. महाराष्ट्र में सबको रहने और बोलने का अधिकार है. किरीट सोमैया क्या बोल रहे हैं उसके बारे में मेरा बोलना उचित नहीं है.

Leave a Comment

Your email address will not be published.