तुर्की में चल रहे बोस्फोरस बॉक्सिंग टूर्नामेंट में भारत की स्टार निकहत जरीन का शानदार प्रदर्शन जारी है. प्री क्वार्टर फाइनल में पूर्व वर्ल्ड चैंपियन को मात देने के बाद उन्होंने क्वार्टरफाइनल में भी बड़ा शानदार प्रदर्श करते हुए दो बार की वर्ल्ड चैंपियन को मात दी.शुक्रवार को कजाकिस्तान की नाजिम किजाएबे को हराकर उन्होंने बॉक्सिंग टूर्नामेंट में महिला 51 किग्रा भार वर्ग के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया.

जरीन ने प्री क्वार्टरफाइनल मुकाबले में 2019 की वर्ल्ड चैंपियन रूस की पाल्सेवा एकातेरिना को हराया था. निकहत जरीन साल 2019 में तब सुखियों में आई थी जब उन्होंने मैरीकॉम के खिलाफ चुनौती पेश की थी. भारतीय मुक्केबाजी महासंघ ने मैरीकॉम को बिना किसी ट्रायल्स के ओलिंपिक क्वालीफायर में भेजने का फैसले किया था.

हालांकि निकहत ने अपनी आवाज उठाते हुए निकहत ने कहा था कि इसके लिए ट्रायल्स होनी चाहिए. इसके बाद बीएफआई ने ट्रायल्स का आयोजन भी कराया था जहां मैरीकॉम को जीत मिली थी. मैरीकॉम के भार वर्ग में खेलने के कारण निकहत को अंतरराष्ट्रीय स्तर में खुद को साबित करने के कम ही मौके मिले हैं.

हालांकि अब जब ऐसा हो रहा है तो वह इसका पूरा फायदा उठा रही हैं. निकहत ने रूस की जिस खिलाड़ी को क्वार्टरफाइनल में मात दी वह 2014 और 2016 वर्ल्ड चैंपियनशिप की गोल्ड मेडलिस्ट हैं. निकहत ने किजाएबे को 4-1 से हराया और सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया और कम से कम भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल पक्का किया.

निकहत के इस अभूतपूर्व प्रदर्शन पर तुर्की सदर रेसेप तैय्यब एरदोगन ने बधाई दी है, उन्होंने कहा – छोटी सी उम्र में बड़ा नाम बनाने पर इंडियन स्टार का पूरा तुर्की उनका फैन हो गया है ।.

Leave a Reply

Your email address will not be published.