लरामपुर ज़िले की तुलसीपुर सीट से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी अब्दुल मशहूद ख़ान को चेयरमैन कहकशाँ फ़िरोज़ का समर्थन मिलने की ख़बर है। कहकशाँ फ़िरोज़ पप्पू की विधवा हैं। फ़िरोज़ पप्पू समाजवादी पार्टी के नेता थे और तुलसीपुर विधानसभा से टिकट की दौड़ में आगे चल रहे थे।

जनवरी के शुरू में उनकी हत्या हो गई, इस हत्या में पूर्व सांसद रिज़वान ज़हीर, उनकी बेटी ज़ेबा रिज़वान और दामाद रमीज़ की गिरफ़्तारी होने से सियासी हालात बदल गए। ज़ेबा सपा से टिकट माँगने वालों में शामिल थीं और बकौल पुलिस हत्या का कारण राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता ही थी। फ़िरोज़ पप्पू की हत्या से उनकी पत्नी कहकशाँ सदमें में चली गई थीं।

उनके परिवार ने सपा नेतृत्व से गुहार लगाई थी कि उनके पति के क़त्ल के आरोपियों को प्रत्याशी न बनाया जाए। मशहूद ख़ान को सपा की ओर से प्रत्याशी बनाये जाने के बाद कहकशाँ और उनके परिवार ने मशहूद को अपना समर्थन दिया है। सपा से टिकट न मिलने के बाद ज़ेबा रिज़वान ने निर्दलीय प्रत्याशी के बतौर पर्चा भरा है।

तुलसीपुर विधानसभा सीट पर मौजूदा विधायक भाजपा के कैलाश नाथ शुक्ला हैं। बसपा ने यहाँ से पूर्व विधायक और कांग्रेस नेता मंगल देव सिंह के भतीजे भुवन प्रताप सिंह को टिकट दिया है। कांग्रेस ने दीपांकर सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया है।

अब तक जो ख़बर है उसके मुताबिक़ सभी प्रत्याशियों ने अपना प्रचार शुरू कर दिया है और सभी अपनी जीत के दावे कर रहे हैं। आपको बता दें कि बलरामपुर ज़िले में छठे राउंड में मतदान होना है.