घर में जमात से नमाज पढ़ने पर, 26 लोगों पर FIR दर्ज,अब ओवैसी ने दिया….

August 29, 2022 by No Comments

उत्तर प्रदेश में अभी तक सार्वजनिक स्थान पर नमाज पढ़ने को लेकर कार्रवाई की खबरें सामने आ रही थी लेकिन उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जनपद के छजलैट थाना क्षेत्र में घर के अंदर जमात से नमाज पढ़ने के मामले में 26 लोगों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है मिली खबरों के अनुसार पुलिस को दूसरे समुदाय के युवक द्वरा शिकायत किये जाने पर 16 नामजद और 10 अज्ञात नमाज पढ़ने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

भारतवर्ष की खबर के अनुसार इस घटना पर संज्ञान लेते हुए एसपी देहात संदीप कुमार मीणा ने अग्रिम कार्रवाई शुरू करने के आदेश दिए हैं आपको बता दें मुरादाबाद ज़िल के थाना क्षेत्र छजलैट इलाके के ग्राम दूल्हपुर के कुछ हिंदू समुदाय के लोगों ने आरोप लगाया कि गांव में नई परंपरा शुरू करते हुए वाहिद और मुस्तकीम अपने मकानों पर सामूहिक रूप से नमाज नमाज पढ़ा रहे हैं जिसपर हिन्दू समुदाय के लोग इसका विरोध करते आ रहे हैं।

जिसपर कुछ लोगों ने इसकी शिकायत थाना छजलैट में बीती 24 अगस्त को की थी इसमें पुलिस ने 16 लोगों को नामजद और 10 अज्ञात के खिलाफ धारा 505(2) के तहत मुकदमा दर्ज करते हुए अग्रिम कार्रवाई शुरू कर दी थी।

वही अब इस मामले पर AIMIM प्रमुख और हैदराबाद सांसद असद ओवैसी ने प्रदेश की योगी सरकार पर निशान साधते हुवे कहा है कि क्या उत्तर प्रदेश के मुसलमानो को अपने घर में ही नमाज़ अदा करने के लिये सरकार से इजाज़त लेनी होगी,उन्होने कहा कि इस मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना पक्ष ज़ाहिर करना चाहिये।

वही ओवैसी ने कहा कि समाज में नफरत का ज़हर इतना ज़्यादा फैल चुका है कि अब अपने घर में नमाज़ अदा करने से भी गांव भर के हिंदू समुदाय की भावना आहत होने लगी है,ओवैसी ने कहा कि नमाज़ इस्लाम के ज़रूरी अरकान में से है और भारत का संविधान हर नागरिक को उसके धार्मिक रीति रिवाज से पूजा करने का अधिकार देता है लेकिन इसके बावजूद अपने ही घर में नमाज़ पढ़ने पर यूपी पुलिस ने धार्मिक नफरत फैलाने जैसी धाराओ मे मुकदमा दर्ज कर संविधान की धज्जियां उड़ाने का काम किया है

Leave a Comment

Your email address will not be published.