कई दिनों से किसान आंदोलन ने केंद्र की नाम के दम किया हुआ है। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृ’षि बिल का देश भर में किसान विरो’ध कर रहे हैं।किसान बड़ी- बड़ी संख्या में दिल्ली पहुँच रहे हैं जो दिल्ली से जोड़ने वाले कई बॉर्डरों को जा’म कर दिए हैं।किसान आं’दोलन का आज चौ’द’ह’वाँ दिन है और इस बीच किसानों और सरकार के प्रतिनिधियों में पाँच दौर की मीटिंग भी हो चुकी है लेकिन इसमें कोई नतीजा नही निकल सका है।किसानों ने अपनी माँग स्प’ष्ट कर रखी है की सरकार ये बिल वापस ले उससे कम पर वो नही मानेंगे।

रात एक बार फिर किसानों और गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) के बीच बैठक थे जिसमें किसानों की तरफ़ से किसान नेता हन्नान मुला भी मौजूद थे।लगभग दो घंटे चली इस मीटिंग में कोई भी हल नही निकल पाया है।किसान अपनी माँग पर ड’टे हुए हैं तो वहीं सरकार अपनी ज़ि’द पर अ’ड़ी हुई है।लेकिन किसानों के ते’वर देख अब केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के पसीने छू’ट’ने लगे हैं।किसानों के मु’द्दे पर होने वाली टीवी डिबेट में भी भाजपा प्रवक्ता जवाब नही दे पा रहे हैं। इस बीच ये भी ख़बर आ रही है कि किसानों और सरकार के बीच होने वालों आज नौ दिसंबर की बैठक भी टा’ल दी गयी है।किसानों ने साफ़ तौर पर ये इ’शा’रा दे दिया है की उन्हें भाजपा पर बिलकुल भी विश्वास नही है।

Kisan Aandolan
जहां एक तरफ़ किसानों के बढ़ते आं’दोलन को देख भाजपा बैक’फुट पर जाती दिख रही है तो वहीं दूसरी तरफ़ किसान आं’दोलन को और भी स’ख़्त करते दिख रहे हैं।आपको बता दें की किसान आं’दोलन का आज चौ’द’ह’वाँ दिन है और देश भर से किसानों के आं’दोलन को भर’पूर समर्थन मिलता जा रहा है।किसानों द्वारा किए गए आठ दिसंबर के भारत बं’द से भी पूरे देश में अ’फ़’रा’त’फ़री का माहौल बन गया है जिसमें कई सियासी पार्टियों ने भी ख़ूब बढ़ च’ढ़ कर हिस्सा लिया और ट्रेनें तक रोक दी गयीं थीं साथ ही उत्तर प्रदेश के सैकड़ों छोटे बड़े नेताओं को प्रशासन ने नज़रबं’द भी रखा।
साभार- राशिफल गुरु

Leave a Reply

Your email address will not be published.