ज्ञानवापी मस्जिद के बाद अब क़ुतुब मीनार की मस्जिद पर टिकी निगाहें, आज कोर्ट में….

September 13, 2022 by No Comments

ज्ञानवापी मस्जिद-श्रृंगार गौरी मंदिर मामले में वाराणसी जिला कोर्ट का श्रृंगार गौरी मंदिर में पूजन-दर्शन की अनुमति की मांग वाली याचिका को सुनवाई के लायक माना है हिंदू पक्ष के वकील विष्णु शंकर जैन ने बताया कि कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष की याचिका को खारिज कर दिया है। वही इस मामले में अगली सुनवाई अब 22 सितंबर 2022 को होगी कोर्ट के इस फैसले से हिंदू पक्ष में खुशी की लहर है वहीं इन सबके बीच आज दो अन्य अहम मामलों में भी सुनवाई होनी है।

कुतुबमीनार के परिसर में मौजूद कुव्वतुल इस्लाम मस्जिद में देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना का अधिकार मांगने वाली याचिका पर साकेत कोर्ट (Saket court) में सुनवाई जारी है कोर्ट में जमीन पर मलिकाना हक का दावा कर पक्षकार बनाए जाने की मांग करने वाले कुंवर महेंद्र ध्वज प्रसाद की अर्जी पर सुनवाई हुई. याचिकाकर्ता और एएसआई ने अर्जी का विरोध किया है. उन्होंने इसे अनावश्यक और मामले को खींचने वाले बताया है।

ASI के वकील ने साकेत कोर्ट में कहा कि इस मामले में महेंद्र ध्वज प्रसाद ने कोई ऐसी दलील पेश नहीं की है, जिससे साबित हो कि इस मामले में सिविल जज के आदेश के बाद उनको पक्षकार बनाने का कोई औचित्य है. इस पर कोर्ट ने कुतुबमीनार के निर्माण वाली जमीन के स्वामित्व का दावा करने वाले कुंवर महेंद्र ध्वज प्रसाद सिंह के आवेदन पर आदेश के लिए 17 सितंबर की तारीख तय की।

आपको बता दें हिंदू संगठन ने साकेत कोर्ट में याचिका दायर की है कि 27 हिंदू देवी-देवताओं और जैन मंदिरों को तोड़कर कुतुबमीनार को बनाया गया है, इसलिए इसमें पूजा करने की परमिशन दी जाए इस याचिका में कुतुबमीनार को विष्णु स्तंभ बताया गया है और इस मंदिर के जीर्णोद्वार की मांग की गई है अदालत ने कहा कि मालिकाना हक के मामले में जब तक फैसला नहीं आ जाता, तब तक पूजा की अनुमति देने वाली याचिका पर फैसला नहीं दिया जा सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.