हज करने के लिए 10 लाख मुसलमान पहुँचे सऊदी अरब, 2 साल बाद इस तरह से…

July 6, 2022 by No Comments

रियाद: इस्लाम धर्म में हज का विशेष महत्त्व है. अगर किसी मुसलमान के पास पैसे की कमी नहीं है और वो सेहतमंद है तो उसे जीवन में एक बार हज ज़रूर करना चाहिए. हज करने के लिए दुनिया भर से मुसलमान सऊदी अरब जाते हैं. सऊदी अरब ने कोरोना फैलने के बाद से हज यात्रा पर पाबंदी लगा दी थी. कोरोना संकट कम होने के बाद इस बार पहला मौक़ा है जब बड़ी संख्या में मुस्लिम लोग हज करने के लिए सऊदी अरब पहुँच रहे हैं.

सऊदी अरब ने इस बार करीब एक मिलियन हज अनुयायियों को तीर्थयात्रा की मंजूरी दी है। साल 2019 के बाद पहला मौका है जब इतनी भारी संख्‍या में तीर्थयात्री यहां पहुंचे हैं। सऊदी स्थित मक्‍का इस्‍लाम धर्म के संस्‍थापक पैगंबर मुहम्मद (SAW) की जन्‍मस्‍थली है। इसलिए यह जगह मुसलमानों के लिए पवित्र है।

मक्‍का पहुंचे एक तीर्थयात्री अब्‍देल कादर खादेर से एक समाचार एजेंसी ने जब बात की तो उन्होंने कहा कि ये उनके लिए निहायत ख़ुशी का मौक़ा है. आधिकारिक तौर पर हज यात्रा की शुरुआत बुधवार से होगी मगर खादेर को अभी तक यकीन नहीं हो रहा है कि वो यहां पर पहुंच गए हैं। फिलहाल अब्‍देल कादर यहां पर हर मौके का आनंद उठा रहे हैं।

जो 10 लाख हज यात्रा के लिए सऊदी अरब पहुंच रहे हैं, उनमें से विदेशों के 850,000 यात्रियों को मंजूरी दी गई है। दो साल तक महामारी की वजह से हज यात्रा पर बंद थी। इस्‍लाम के पांच स्‍तंभों में हज सबसे महत्‍वपूर्ण स्‍तंभ है। पूरी दुनिया में फैले मुसलमानों के लिए वो मौका बहुत ही खास होता है जब वो अपने जीवन में एक बार इस यात्रा को पूरा कर पाते हैं। हर मुसलमान को अपने जीवन में कम से कम एक बार यहां पर आना होता है।

अथॉरिटीज की तरफ से बताया गया है कि अब तक 650,000 विदेशी जायरीन यहां पहुंच चुके हैं। हालांकि सोमवार को 100,000 यात्रियों को मक्‍का में द‍ाखिल होने से रोक दिया गया। ये कदम सुरक्षा के चलते उठाया गया है। सुरक्षा अधिकारियों की मानें तो 288 लोगों पर बिना मंजूरी के हज करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है और उन पर जुर्माना भी थोंपा गया है।

एक बार हज करने में एक व्‍यक्ति पर कम से कम 5,000 अमेरिकी डॉलर का खर्च आता है। सऊदी अरब जो दुनिया का सबसे बड़ा तेल निर्यातक देश है, उसकी अर्थव्‍यवस्‍था के लिए हज सबसे बड़ा आय का स्‍त्रोत है। अब इस देश ने महिलाओं को भी हज यात्रा की अनुमति दे दी है। वो अपने किसी पुरुष रिश्‍तेदार के साथ हज यात्रा कर सकती हैं।

सऊदी अरब ने इस साल मास्‍क को अन‍िवार्यता को खत्‍म कर दिया है लेकिन तीर्थयात्रियों को ग्रैंड मस्जिद के अंदर इसे पहनना होगा। इस्‍लाम में ग्रैंड मस्जिद सबसे पवित्र जगह है। इसके अलावा विदेशों से आने वाले यात्रियों के लिए निगेटिव आरटीपीसीआर टेस्‍ट को भी जरूरी किया गया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.