निर्भया के’स की तरह हाथरस गैंग’रेप और ह’त्या भी उबा’ल मा’र रहा है। निर्भया के’स में तो केवल अपरा’धियों की ही हैवा’नियत देखने को मिली थी, लेकिन हाथरस गैंग’रेप में तो पु’लिस और प्रशासन पर भी हदें पार करने के इल्ज़ाम लग रहे हैं। पु’लिस और प्रशासन द्वारा पी’ड़ित के परिवार को ध’मकी दी जा रहीं है। यही नहीं बल्कि पु’लिस ने पीड़िता के शव को बिना पीड़ित परिवार को बताए जला दिया था। दरअसल, हाथरस के जिलाधिकारी प्रवीण कुमार का एक वीडियो तेज़ी से वाय’रल हो रहा है, जिसमें वह पीड़ित के परिवार को ध’मकाते हुए नजर आ रहे हैं।

इस वीडियो के वाय’रल होने के बाद लोगों में काफी गु’स्सा देखा जा रहा है, जिसके चलते कुछ लोगों ने शुक्रवार को जयपुर में उनके घर के बाहर कचरा फें’क दिया। वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने इस माम’ले की कारवाई करते हुए SP-DSP समेत 5 पुलि’सकर्मी सस्पें’ड कर दिया है, लेकिन जिलाधिकारी पर अभी कोई भी कारवाई नहीं की गई है। यही वजह है कि लोगों ने उनके घर के बाहर कूड़ा डाल दिया। हाथरस में दलित लड़की के साथ गैंग’रेप के बाद विपक्षी पार्टियां योगी सरकार को लगातार निशा’ना बना रही है।

आपको बता दें कि 14 सितंबर को हाथरस में कुछ लोगों ने 19 साल की दलि’त लड़की के साथ गैंग’रेप किया था। इसके साथ ही लड़की की रीढ़ की हड्डी में चो’ट और जीभ काटने की बात साम’ने आई थीं, जिसके बाद पीड़ित को अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में एड’मिट कराया गया था। उसके बाद उसे दिल्ली के सफदरगंज अस्प’ताल में भ’र्ती कराया गया था, जहां उसने अपनी जान गंवा दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.