हज़रत अली ने फरमाया जो फजर के बाद सोते हैं उनकी किस्मत में क्या लिखा जाता है? जानने के बाद गलती से भी…

August 27, 2022 by No Comments

आज हमारे समाज में एक ट्रेन्ड बना हुआ है कि नौजवान रात के दो, तीन बजे तक मोबाइल पर लगे पड़े रहते हैं फिर उनसे सुबह की नमाज भी क़ज़ा और फिर दिन के 12:00 बजे तक आराम फरमा रहे होते हैं आज हम आपको बताएंगे कि हज़रत अली ने ऐसे लोगों के बारे में क्या फरमाया है।

क्या कुछ उनकी किस्मत में लिख दिया जाता है जो ऐसे हालात के लपेट में आ चुके होते हैं जो इंसान सुबह सोया पड़ा रहता है उसके इस काम को इस्लाम ने सख्त नापसंद फरमाया है दोपहर के अलावा किसी भी वक्त ना सोया करो क्योंकि ये अमल हमारे नबी भी किया करते थे क़ैलूला वो नहीं जिसमें इंसान पेट भर कर खाना खाकर सो जाए क़ैलूला से मुराद वो अमल है कि आप खाना खा चुके हैं या नहीं बस थोड़ी देर दोपहर को आराम करना ताकि आपका जो भी बाकी दिन का वक्त है अच्छा गुजरे।

Arabic Muslim mother playing and taking care of her baby

हजरत अली रजि अल्लाह ताला अन्हु ने फरमाया मैंने नबी करीम सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम से सुना था कि खाना खाकर उसी वक्त ना सोया करो उससे दिल में सख्ती पैदा होती है अब यह बात यहां तक पहुंची कि अब डॉक्टर भी ये मान रहे हैं कि जो लोग खाना खाकर उसी वक़्त सो जाते हैं वो दिल के मर्ज का शिकार हो जाते हैं यही बात चौदह साल पहले हमारे नबी ने फरमाइ थी।

एक मर्तबा हज़रत अली की खिदमत में एक आदमी आया और फरमाने लगा या अली रज़ि अल्लाहू अन्हु सुबह सवेरे जो आदमी सोया पड़ा रहता है उसकी किस्मत में क्या कुछ लिखा जाता है उन्होंने फरमाया ये अल्लाह के बंदे मैं अल्लाह के नबी से सुना कि जो भी इंसान सुबह के वक्त में सोया पड़ा रहता है और फजर की नमाज भी कजा कर देता है या जो आदमी सुबह की नमाज पढ़ कर सो जाता है जब फरिश्ते आसमान से उसके मुकद्दर की रिज़्क़ लेकर जमीन की तरफ आते हैं और इंसानों में रिज़्क़ बांटने लग जाते हैं तो जो इंसान सोए होते हैं उस वजह से वो रिज़्क़ वापस अपने साथ लेकर आसमानों की तरफ लौट जाते हैं।

जब वह नींद से उठता है तब ऐसे लोग रिज़्क़ की तंगी की शिकायत करते फिरते हैं जो लोग रिज़्क़ की तंगी की शिकायत करते हैं जब आजमाने के लिए उनसे पूछो तो सही कि सुबह कितने बजे उठते हो तो लाजमी कहेंगे कि हम सुबह उठते ही नहीं लिहाजा यही वजह है कि जिसकी वजह से उनका रिज़्क़ तंग कर दिया जाता है

जिसकी वजह से वो रिज़्क़ की शिकायत किये फिरते हैं आपसे गुजारिश है आप सवेरे उठा करें आप सुबह नमाज अदा करें कोशिश करें आदमी लोग जमात के साथ नमाज अदा करें कुरान की तिलावत करें उसके बाद आप जिंदगी शुरुआत करेंगे तो आपका दिन खुशगवार गुजरेगा।

जो इंसान सवेरे जागते हैं वह अपने काम भरपूर तरीके से अंजाम देते हैं उनके रिज़्क़ में बरकत होती है और वो एक पुरसुकून और खुशहाल जिंदगी बसर करते हैं उनकी तंदुरुस्ती की भी कोई शिकायत नहीं होती और उनको कोई जल्दी बीमारी भी नही लगती है ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.