सोश’ल मीडिया के ज़रिए मिली पहचान ने रानू मंडल को एक जाना पहचाना नाम बना दिया है। पश्चिम बंगाल के एक रेलवे स्टेशन पर गाना गाकर गुजा’रा करने वाली रानू मंडल को आज पूरा देश जानता है| उनका एक विडीओ वाय’रल हुआ था जिसमें रानू मंडल लता मंगेशकर का गाना “एक प्यार का नग़मा है” गा रही थीं। बाद में उन्हें एक सिंगिंग रिएलिटी शो में बुलवाया गया और यहाँ से उन्हें मिल गयी बॉलीवुड में प्लेबैक करने की राह। हाल ही में रानू मंडल पर लता मंगेशकर ने क’मेंट किया था और उनका ये क’मेंट लोगों को अच्छा नहीं लगा था।

लता मंगेशकर ने कहा था कि “अगर मेरे गाने के किसी का भला होता है तो में अपने आपको खुशकिस्मत समझती हूँ|” साथ ही उन्होंने कहा था कि “नक़’ल सफलता का टिका’ऊ साधन नहीं है| मेरे किशोर दा, रफ़ी साहब या मुकेश भईया या आशा भोंसले का गाना गाकर कोई भी कुछ ही समय तक लोगो का ध्यान आकर्षित कर सकता है”। उनकी ये बात सुनकर लोगों को बु’रा लगा था। अब उनकी इस बात पर रानू मंडल और हिमेश दोनों ने प्रतिक्रि’या दी है।

ranu mandal

मौक़ा था रानू मंडल की पहली प्रेस को’नफ़्रेंस का जहाँ उनके तीनों गाने रीलिज़ हो रहे थे। यहाँ जब रानू मंडल से लता जी के ब’यान पर टिप्प’णी माँ’गी गयी तो उन्होंने कहा कि “मैं लता जी से उम्र में छो’टी थी, हूँ और हमेशा रहूँगी। बचपन से ही मुझे उनकी आवाज पसंद है”। लेकिन जब हिमेश रेशमिया से इसी बारे में बात की गयी तो उनका ज’वाब अलग था’

हिमेश ने कहा कि “कोई भी लता जी की जगह नहीं ले सकता। नक़’ल नहीं चलती वाली बात लता जी ने अलग तरह से कही थी लेकिन मैं मानता हूँ कि लोग टैलें’ट लेकर आते हैं, रानू जी के पास बचपन से टैलें’ट है।” वहीं नक़लची वाली बता पर हिमेश ने कहा कि “नक़ल और इन्स्परेशन अलग चीज़ होती है। कुमार सानू हमेशा कहते हैं कि वो किशोर कुमार से इन्स्पाइअर्ड हैं। लेकिन फिर भी उनकी अलग पहचान है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.