हैदराबाद की चार मीनार पर बस ने मारी थी टक्कर, और रातों रात भाग्यलक्ष्मी मंदिर….

September 11, 2022 by No Comments

हैदराबाद के चार मिनार के बिल्कुल जड़ में स्थित भाग्य लक्ष्मी मंदिर का विवाद कब से शुरू हुआ, और वहां मंदिर कैसे बनी इसपर इंडियन एक्सप्रेस स्टोरी की थी जिसको one india ने अपने पोर्टल पर प्रकाशित की थी उसमें बताया कि इंडियन एक्सप्रेस ने आर्कयोलॉजिक सर्वे ऑफ इंडिया के सूत्रों के हवाले से बताया है कि यह मंदिर चारमीनार की सुरक्षित परिधि का अतिक्रमण करता है।

अधिकारियों का दावा है कि स्मारक को गाड़ियों से सुरक्षित रखने के लिए एक पिलर खड़ा किया गया था, जिसे 1960 की दशक में कभी भगवा रंग में रंगा हुआ पाया गया और लोगों ने वहां पर आरती करनी शुरू कर दी। इसी दावे के मुताबिक स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट की एक बस ने उस पिलर में टक्कर मार दी थी, जिससे वह क्षतिग्रस्त हो गया।

और तभी रातों-रात वहां बांसों से बना एक छोटा सा ढांच तैयार कर दिया गया, जिसके अंदर देवी मां की प्रतिमा स्थापित कर दी गई तेलंगाना विधान परिषद में विरोधी दल के नेता मोहम्मद शब्बीर अली का दावा है कि, ‘(उस) घटना के बाद हर त्योहार में मंदिर का एक या दो फीट विस्तार शुरू होता चला गया, जब तक कि 2013 में हाई कोर्ट ने पुलिस को विस्तार रोकने का निर्देश नहीं दिया।

खबरों के अनुसार तथ्य ये है कि हैदराबाद के चारमीनार इलाके में जिन हिंदुओं का कारोबार है या उनकी वहां दुकानें हैं, वह रोजाना इस मंदिर में आते हैं। यही नही बल्कि दिवाली जैसे त्योहारों के मौके पर तो यहां श्रद्धालुओं की लंबी कतारें लग जाती हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.