इस्लाम में मियां बीवी के हूक़ूक़, मौलाना तारिक़ जमील साहब,वीडियो देखें….

January 19, 2021 by No Comments

इस्लाम एक ऐसा धर्म है जहां पर बड़ी से बड़ी बात से लेकर छोटी से छोटी बात को भी काफी तवज्जो दी जाती है। कहा जाता है कि कुरान में मुसलमानों के लिए हर बात की जानकारी दी गई है। तो दोस्तो आज हम बात करने जा रहे मियां बीवी के हूक़ूक़ की।
दोस्तो हमारे इस्लाम में बीवी के के बहुत हूक़ूक़ है आज हम उसी के बारे में बताने जा रहे है। दोस्तो इस्लामी मुआशरा अच्छे इख़लाक़ से बनता है इस्लाम इखलाक़, प्यार और मोहब्बत से बनता है। छोटों से मोहब्बत बड़ो की इज़्ज़त करना ही हमारा इस्लाम हमको समझाता है।
बीवी से कहा जाता है शादी के बाद अपने मियां को इज़्ज़त दो ,शोहरत दो, शादी के बात माँ बाप का हक़ पीछे,बहन भाइयो का हक़ पीछे है। जबकि औलाद का भी हक़ पीछे है सबसे पहले शौहर का हक़ है, बहुत सी औरते अपने माँ बाप के पीछे लग कर अपने शौहर को पीछे छोड़ देती है। अपने बच्चों की मोहब्बत की वजह से आने शौहर को ज़लील कर देती है।

बहुत से शौहर अपने बच्चे की वजह से बीवी को बेइज़्ज़त करते है या अपने माँ बाप की वजह से अपनी बीवी को बेइज़्ज़त करते है। ये आज कल के माहौल में आम हो गया है। अल्लाह के वास्ते आपस में मोहब्बत दो,हर एक का अपना मुकाम है। सबको अपने मुक़ाम पर रख्खो। माँ बाप की वजह से बीवी को बेइज़्ज़त ना करो। बीवी की वजह से अपने माँ बाप को बेइज़्ज़त करो,ये वो रिश्ता है जो अल्लाह से अपनी निशानियों में से एक निशानी बनाया है।

अल्लाह बहुत बड़ा है। हर चीज़ पर कायम है। अल्लाह ताला अपने बंदों की तौबा का इंतज़ार करता है। छोटी से छोटी चीज़ पर सवाब देता है। साफ दिल से सच्ची तौबा करके देखो। अल्लाह हर चीज़ को माफ करने में क़ादिर है। दोस्तो अल्लाह ताला बंदों की नीयत देखता है। इसलिए जो भी काम करो साफ नियत से करो इंशाअल्लाह हर दुआ पूरी होगी। अल्लाह पाक हैम सबको सही रास्ते पर चलने की तौफ़ीक़ अता करे,आमीन। दोस्तो लिखने में जो भी गलती हो अल्लाह माफ करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *