टेस्ट क्रिकेट को लेकर जिस तरह से दर्शकों का रूझान कम हो रहा है उससे क्रिकेट जगत सकते में है। टेस्ट क्रिकेट से दर्शकों का रूझान कम होने की बहुत सारी वजहें हैं, इनमें से एक तो यही है कि छोटे फ़ॉर्मेट्स को अधिक प्रमोशन दिया जा रहा है। भारत जैसे देश में भी अब लोग मैदान पर जाकर टेस्ट क्रिकेट मैच नहीं देख रहे हैं। हाल ही में सम्पन्न हुई भारत-दक्षिण अफ़्रीका सीरीज़ में भी मैदान पर लोग मैच देखने नहीं पहुँचे। इस वजह से क्रिकेट एसोसिएशन को भी आलोचना झेलनी पड़ी।

नवंबर के महीने में बांग्लादेश की टीम भारत आने वाली है। बांग्लादेश की टीम भारत से तीन टी 20 और 2 टेस्ट मैच खेलेगी। दो टेस्ट मैच का दूसरा टेस्ट कोलकाता के मशहूर ईडन गार्डन में खेला जाएगा। पश्चिम बंगाल की क्रिकेट एसोसिएशन ने दर्शकों को मैदान तक लाने के लिए टिकटों के दाम बहुत कम कर दिए हैं। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल के सचिव अविषेक डालमिया ने कहा कि ईडन गार्डन्स में टिकटों के दाम 200, 150, 100 और 50 रुपए रखे गए हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ सालों से हम देखते हैं कि क्रिकेट एसोसिएशन और मीडिया भी टी२० क्रिकेट पर ध्यान देते हैं. इस वजह से असली क्रिकेट कहे जाने वाले टेस्ट की पॉपुलैरिटी पीछे रह जा रही है. एकदिवसीय क्रिकेट ने भी टी२० की वजह से अपनी पॉपुलैरिटी खोयी है. इसी वजह से अब कुछ क्रिकेट एसोसिएशन काम कर रही हैं कि टेस्ट क्रिकेट को पुरानी वाली पॉपुलैरिटी मिले. हालाँकि जानकार मानते हैं कि टेस्ट क्रिकेट की पॉपुलैरिटी के कम होने की वजह ये भी है कि अब पिच इस तरह की बनती है जिससे कि घरेलु टीमों को फ़ायदा रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.