लखनऊ: उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज़ हैं. इस बार के चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के सक्रिय न होने की वजह से मुक़ाबला सपा और भाजपा के बीच सिमट कर रह गया है. कांग्रेस अपनी ओर से कोशिश कर तो रही है लेकिन उसे विशेष कामयाबी नहीं मिल पा रही है. टिकटों को लेकर भी मारामारी भी सपा और भाजपा में ही दिख रही है.

असल में सभी को ये लग रहा है कि जब मुक़ाबला सपा और भाजपा के बीच है तो किसी और दल से चुनाव ल’ड़ने का मतलब नहीं है. सपा और भाजपा दोनों के ही उम्मीदवारों की लिस्ट लगातार आ रही है. इस लिस्ट में जहां कुछ नेताओं को ख़ुशी मिल रही है तो कई ग़मज़दा भी हो रहे हैं.

ख़बर कासगंज से है. कासगंज जनपद की पटियाली सीट पर सपा ने अपने प्रत्याशी का एलान कर दिया है. आज़म ख़ान के परिवार की बहू और एटा के कांग्रेस से पूर्व सांसद मुशीर अहमद ख़ान की बेटी सहावर, जनपद कासगंज निवासी नादिरा सुल्तान उर्फ बिटिया को सपा द्वारा टिकट दिया गया.

मुशीर अहमद ख़ान 1968 और 1974 में कांग्रेस के एटा से सांसद रहे और मॉर्डन बेकरीज के चेयरमैन भी रहे. नादिरा सुल्तान आज़म ख़ान के रिश्ते के भांजे अब्दुल हफ़ीज़ की पत्नी हैं और रामपुर में इनकी शादी हुई है. वहीं, नादिरा सुल्तान कासगंज की पटियाली सीट से पूर्व में भी कांग्रेस की प्रत्याशी के रूप में चुनाव ल’ड़ चुकी हैं.

ऐसी ख़बरें थीं कि यहाँ से किरण यादव चुनाव लड़ेंगी लेकिन आख़िरी समय में आज़म ख़ान ने सिफ़ारिश की और नादिरा सुलतान को टिकट मिल गया. आज़म ख़ान ने नादिरा के लिए ज़ोरदार पैरवी की थी.