लखनऊ: उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर गहमागहमी बेहद तेज़ चल रही है. सपा ने रामपुर ज़िले की पाँचों सीटों के लिए प्रत्याशी का एलान कर दिया है. रामपुर जिला आज़म ख़ान परिवार के लिए ख़ास माना जाता है. इस बाबत ये सीटें काफ़ी अहम् हैं.

सपा ने रामपुर शहर विधानसभा सीट से वरिष्ठ समाजवादी नेता और लोकसभा सांसद आज़म ख़ान को टिकट दिया है वहीं स्वार से उनके बेटे अब्दुल्ला आज़म चुनाव ल’ड़ेंगे. इसके अलावा चमरौआ और मिलक सुरक्षित सीट से पुराने चेहरों पर ही दांव लगाया है, जबकि, बिलासपुर विधानसभा सीट से अमरजीत सिंह को प्रत्याशी बनाया गया है।

आज़म सपा के सबसे बड़े मुस्लिम नेता हैं और माना जाता है कि वह प्रदेश के सबसे क़द्दावर मुस्लिम नेता हैं. जिले में दूसरे चरण में विधानसभा चुनाव होना है। इसके लिए 21 जनवरी से नामांकन शुरू हो जाएंगे। जबकि, 14 फरवरी को मतदान होगा। ऐसे में भाजपा व कांग्रेस के बाद अब समाजवादी पार्टी ने भी मंगलवार को अपने प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिए।

आपको बता दें कि रामपुर शहर से आज़म का ख़ुद चुनाव ल’ड़ना बेहद अहम् माना जा रहा है. आज़म फ़िलहाल जे’ल में हैं और उनके परिवार को योगी सरकार के कार्यकाल में कई बार मुश्किलों का सामना करना पड़ा है. ऐसे में आज़म का चुनाव ल’ड़ना पार्टी के लिए बड़ा प्लस हो सकता है. आजम खां इस सीट से नौ बार विधायक रहे हैं। साथ ही प्रदेश में जब-जब सपा की सरकार बनीं, तो वे सबसे ताकतवर मंत्री बने।

स्वार से आज़म के बेटे अब्दुल्ला आज़म विधायक चुने गए थे लेकिन हाईकोर्ट ने उनका निर्वाचन शून्य घोषित कर दिया था। अब सपा ने उन्हें दोबारा प्रत्याशी बनाया है।इसके अलावा चमरौआ से आजम खां के करीबी मौजूदा विधायक नसीर अहमद खां एक बार फिर चुनाव ल’ड़ेंगे। जबकि, मिलक सुरक्षित सीट से सपा ने पूर्व विधायक विजय सिंह को प्रत्याशी बनाया है। विजय सिंह 2012 में सपा के टिकट पर चुनाव जीत चुके हैं। वहीं, बिलासपुर विधानसभा सीट से सपा ने अमरजीत सिंह को प्रत्याशी बनाया है।