जुम्मे वाले दिन यह गुनाह करना छोड़ दें वरना अल्लाह पाक दिलो पर मोहर लगा देगा, हर मुस्लिम को….

August 26, 2022 by No Comments

जुमा की फजीलत इतनी ही इंसान अगर समझ ले जिसके बारे में खुद रसूल अल्लाह ने फरमाया और यह रिवायत अब्दुल्ला इब्न उमर और अबू हुरैरा से मरवी है सही मुस्लिम की रिवायत है अगर लोग जुमा छोड़ने के जुर्म को छोड़ दें वरना अल्लाह ताला के दिलों पर मोहर लगा देंगे फिर उनकी जिंदगी ग़ाफ़िलों की जिंदगी हो जाएगी और एक दूसरे रवायत के अल्फ़ाज़ ये हैं जो शख्स तीन जुमा में सुस्ती करता हुआ छोड़ देता है अल्लाह ताला उसके दिल पर मोहर लगा देते हैं।

अल्लाह के रसूल ने जुमा की फजीलत के बारे में फरमाया सैयदना अबू हुरैरा से मरवी है कि अल्लाह के प्यारे पैगंबर ने सहाबा को इस बात की खुशखबरी दी और फरमाया हम दुनिया के अंदर तो यहूदियों और ईसाइयों के बाद आए हैं लेकिन क़ियामत के दिन सबसे पहले जन्नत में जाएंगे पूरी दुनिया में सबसे पहले अगर किसी का हिसाब किताब होगा या किसी को इस बात की खुशखबरी सुनाई जाएगी कि तुम जन्नत में जाओ तो ये उम्मत- मोहम्मद होगी

यहूदियों ने शनिवार को पसंद किया, जिसमें मखलूक की पैदाइश शुरू भी नहीं हुई थी, जबकि ईसाइयों ने रविवार को अपनाया, जिसमें मखलूक की पैदाइश शुरू शुरू हो गई थी। और इस उम्मत के लिए, अल्लाह तआला ने शुक्रवार का दिन पसन्द फरमाया, जिस दिन अल्लाह तआला ने मखलूक को पूरा किया। यह सही बुखारी की हदीस में है कि पैगंबर (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) ने कहा: हम दुनिया में आने के मामले में सबसे पीछे हैं; लेकिन क़यामत का दिन पहला होंगे ।

अल्लाह के रसूल ने एक मर्तबा जुमा के दिन इरशाद फरमाया मुसलमानों अल्लाह ने इस दिन को तुम्हारे लिए ईद के दिन बनाया है इस वजह से इस दिन ग़ुस्ल किया करो और मिस्वाक किया करो इस हदीस से मालूम हुआ कि जुमा का दिन हफ्ता की ईद है ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.