कंगना रनौत की हरकत पर भ’ड़की उद्धव ठाकरे की मंत्री, ”दो टके के लोग..”

November 27, 2020 by No Comments

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत की याचिका पर आज मुंबई हाई कोर्ट ने सुनवाई करते हुए बीएमसी को बड़ा झ’टका दिया है। दरअसल बीते दिनों शिवसेना और कंगना रनौत के बीच कड़ी तकरार देखने को मिली थी।

इस मामले में मुंबई की मेयर किशोरी पेडणेकर ने कहा है कि शिवसेना शासित बीएमसी कंगना रनौत के बंगले में तो’ड़फो’ड़ के मामले में अगला कोई कदम तय करने से पहले मुंबई हाई कोर्ट के फैसले का अध्ययन करेगी। इतना ही नहीं उन्होंने कंगना के लिए आ’पत्ति’जनक भाषा का भी इस्तेमाल किया है।

 

कंगना पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए मुंबई की मेयर ने कहा कि ‘हम लोग भी हैरान हुए हैं। एक अभिनेत्री जो रहती हिमाचल में है और हमारी मुंबई को पीओके कहती हैं। जो दो टके के लोग कोर्ट को भी राजनीति का अ’खा’ड़ा बनाना चाहते हैं वो गलत हैं। क्योंकि ये मामला बदले का नहीं है। उन्हें सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया गया। कोर्ट ने जो फैसला किया है उसका अध्ययन करेंगे।’

उन्होंने कहा है कि मुंबई नगर निगम अधिनियम की धारा 354 ए के संबंध में हाई कोर्ट द्वारा अतीत में दिए गए आदेशों को भी देखा जाएगा। धारा 354 ए नगर निकाय और उसके अधिकारियों को किसी भी तरह के अ’वै’ध निर्माण को रोकने का अधिकार देती है। कंगना रनौत को एमएमए में अ’धिनि’यम के तहत 354 ए नोटिस जारी किया गया और उचित प्रक्रिया का पालन किया गया।

आपको बता दें कि इससे पहले मुंबई हाईकोर्ट ने बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के बंगले के कुछ हिस्सों को तोड़ने के मामले में बीएमसी की कार्रवाई को अ’वै’ध करार दिया था। उन्होंने कहा था कि यह राजनीति के चलते की गई है। बॉम्बे हाई कोर्ट के जस्टिस जे काठवल्ला और न्यायमूर्ति आर आई चागला की पीठ ने कहा कि कंगना रनौत को दी जाने वाली क्ष’तिपू’र्ति की राशि का निर्धारण करने के वास्ते नुकसान का आकलन करने के लिए वह मैसर्स शेतगिरि को मूल्यांकन अधिकारी नियुक्त कर रही है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *