भाजपा के अंदरखाने में खटपट! पार्टी नेताओं के एक धड़े ने हार के जिम्मेदार…

May 9, 2021 by No Comments

देश में हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित किए जाने के बाद तीन राज्यों में भाजपा को बड़ा झटका लगा है। पश्चिम बंगाल के बाद केरल में भी भाजपा को झटका लगा है। बताया जा रहा है कि केरल में इस साल हुए विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद भाजपा के अंदरखाने के नेताओं में ही वि’वाद शुरू हो गया है।

दरअसल किसी भी राज्य में किसी भी पार्टी की हार के लिए उसे ही जिम्मेएदार माना जाता है। हालांकि, इस बार केरल में पार्टी के खराब प्रदर्शन के लिए केंद्रीय नेतृत्व को लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। केरल विधानसभा चुनाव में एक बार फिर लेफ्ट ने परचम लहराया है।

जहां माकपा के नेतृत्व वाले लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट ने बड़ी जीत हासिल की, वहीं इस बार भाजपा को एक भी सीट नहीं मिली। पिछले विधानसभा चुनाव केरल विधानसभा में भाजपा ने एक सीट जीती थी, दक्षिणी केरल से। लेकिन इस बार वो सीट पार्टी ने गंवा दी।

हैरान करने वाली बात यह है कि भाजपा के मुख्यमंत्री उम्मीदवार मेट्रोमैन ई श्रीधरन और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के सुरेंद्रन दोनों सीटों से चुनाव हार चुके हैं। इसे लेकर अब पार्टी के स्थानीय नेता केंद्रीय नेतृत्व पर ही निशाना साध रहे हैं। गौरतलब है कि केरल और पश्चिम बंगाल में भाजपा और विपक्षी पार्टियों के बीच तगड़ा मुकाबला हुआ है।

इन दोनों राज्यों में भाजपा को कड़ी शिकस्त दी है। बात की जाए केरल की तो राज्य में पार्टी नेताओं का एक धड़ा संगठन के एक वरिष्ठ नेता के गलत फैसलों और खराब योजना को हार का जिम्मेदार ठहरा रहा है। बताया गया है कि इस वरिष्ठ नेता का केरल इकाई के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री पर गहरा प्रभाव है।

इसी हफ्ते की शुरुआत में केरल में हार की समीक्षा के लिए जब भाजपा संगठन महासचिव बीएल संतोष ने जिलाध्यक्षों और अन्य नेताओं की बैठक बुलाई तो इसमें काफी कम लोग हिस्सा लेने पहुंचे।

सूत्रों की मनाई जाए तो इस मीटिंग में पार्टी के 50 फीसदी स्थानीय नेता भी नहीं पहुंचे। इस बीच अब राज्य में पार्टी नेता केंद्रीय नेतृत्व की ओर से मीटिंग बुलाए जाने का इंतजार कर रहे हैं, ताकि वे राज्य में विधानसभा चुनाव में हार को लेकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *