जब से किसान बिल पास हुआ है तभी से विप’क्षी पार्टियां जमकर इसका विरो’ध कर रही हैं। अब किसान भी इस बिल का विरो’ध करते हुए सड़कों पर उतर आए हैं। कई राज्यों में केंद्र सरकार द्वारा लागू हुए कृषि बिल पर प्रदर्श’न जारी है। बिहार में भी विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव भी इसका विरो’ध करते हुए नजर आ रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने मीडिया से बातचीत भी की और केंद्र सरकार पर निशा’ना भी साधा, साथ ही सरकार पर आरो’प भी लगाया है।

तेजस्वी यादव ही नहीं बल्कि आम जनता और दरभंगा में आरजेडी के कार्यकर्ता भी इस विरो’ध-प्रदर्शन में शामिल हुए। अपनी इस रैली में तेजस्वी यादव ने एक न्यूज़ एजेंसी से बातचीत के दौरान कहा, “सरकार ने हमारे ‘अन्नदाता’ को अपने ‘फंड दाता’ के ज’रिए कठपुतली बना दिया है। किसान विधेयक किसान-विरो’धी हैं और इससे किसान निरा’श हैं। सरकार ने कहा था कि वो किसानों की आय 2022 तक दोगुनी कर देंगे लेकिन उनके यह विधेयक किसानों को और गरीब कर देंगे। कृषि सेक्टर का कारपोरेटीकर’ण कर दिया गया है।”

मालूम हो कि इन बिल्स को लेकर विप’क्षी पार्टियों ने संसद में काफी हंगा’मा भी किया था। विपक्ष का कहना था कि इन बिलों से किसान को काफी नुक’सान उठाना पड़ सकता है। इसके साथ ही एमएसपी पर इसका खासा प्रभा’व पड़ेगा। यही नहीं बल्कि विपक्ष का मानना है कि इन बिलों के कार’ण मंडियां भी ख’त्म हो जाएंगी और किसान कॉरपोरेट कंपनियों के हाथों मज’बूर हो जाएंगे। जहां एक ओर किसान और विप’क्षी पार्टियां इसका विरो’ध कर रही है तो वहीं दूसरी ओर केंद्र सरकार अपने फैसले पर अट’ल दिखाई दे रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.