कोरोना वाय’रस की इस महामा’री में घ’र से दूर फँसे मजदू’रों को बसों के ज’रिए वापस प्रदेश लाया जा रहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उत्तर प्रदेश, गुजरात, महाराष्‍ट्र, राजस्‍थान के मुख्यमंत्रियों से बात कर अब तक 2 हजार से ज़्यादा मजदूरों को गुजरात से मध्य प्रदेश लाने की पह’ल की है। बता दें कि गुजरात से अब तक मजदू’रों से भरी 17 बसों को झाबुआ ज़िले के पिटोल बॉर्ड’र पर पहुंचाया जा चुका है। यहां उन सभी का टे’स्ट किया जा रहा है।

बता दें कि गुजरात से लगभग 2400 मजदू’रों को 98 बसों के ज’रिए मध्‍यप्रदेश के लिए भे’ज दिया गया है। वहीं राजस्थान में भी ये सिलसि’ला शुरू कर दिया गया और साथ ही अन्य राज्यों से भी मजदूर जल्दी ही प्रदेश वाप’स बु’लाए जा’एंगे। सर’कार का कहना है कि प्रदेश लौ’ट रहे सभी मजदू’रों की स्क्री’निंग की जाएगी और सभी को होम क्वारेंटा’इन किया जाएगा और ज़रूरत पड़ने पर उनको गांव के बाह’र मौ’जूद एक केंद्र में रखा जाएगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने गांव के लोगों से अपी’ल की वह गांव लौ’ट रहे अपने मजदू’र भाइयों की मदद करे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि अगर किसी परिवा’र का कोई सदस्य इस लॉ’क डा’उन के चलते किसी अन्य जिले में फँ’स गया है तो सर’कार ने उसके आने के लिए भी ई-पास की व्‍यवस्‍था कर दी है। लेकिन बता दें कि इंदौर, भोपाल, उज्‍जैन जैसे उ’च्च संक्र’मित जिलों में मौ’जूद कोई भी इंसान ना तो इन जिलों से बाह’र जाएगा और ना ही कोई बाह’र के जिलों से इन जिलों में जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.