कोलकाता. महाराष्ट्र के दिग्गज नेता एकनाथ खडसे के भाजपा छोड़ने के बाद पश्चिम बंगाल में भी भाजपा को झट’का लगा है. ख़बर है कि गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (Gorkha Janmukti Morcha) के सुप्रीमो बिमल गुरुंग (Bimal Gurung) ने भाजपा का दामन छोड़ दिया है. उन्होंने एलान करते हुए कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में वो भाजपा को जवाब देंगे.

उन्होंने कहा,”केंद्र ने गोरखालैंड को लेकर अपने वादे नहीं पूरे किए. ममता बनर्जी ने अपने सभी वादे पूरे किए हैं. इसलिए मैं NDA से अलग हो रहा हूं. 2021 के विधानसभा चुनाव में हम तृणमूल कांग्रेस के साथ गठबंधन कर बीजेपी को जवाब देंगे.” बिमल गुरंग ने कहा है कि उनकी गोरखालैंड बनाये जाने की माँग अभी भी बनी हुई है..यही हमारा लक्ष्य है और विज़न है. उन्होंने ये भी साफ़ किया कि 2024 के लोकसभा चुनाव में हम उसी पार्टी को सपोर्ट करेंगे जो हमारी मांगें मानेगी.


आपको बता दें कि गोरखालैंड की मांग को लेकर पिछले तीन सालों से फ़रार चल रहे बिमल गुरुंग एकाएक बुधवार को कोलकाता में प्रकट हो गए. उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा-मैं कोई अपराधी नहीं हूँ. ना ही मैं देशद्रो’ही हूं. मैं एक पॉलिटिकल लीडर हूं. मैं अपनी राजनीतिक मांग के लिए राजनीतिक उपाय चाहता हूं. वो सन 2017 से अंडरग्राउंड चल रहे थे. 2017 में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं द्वारा एक पुलिसवाले की हत्या करने के बाद से ही वो अंडरग्राउंड थे. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होने कहा- हमने बीजेपी को 12 सालों तक समर्थन दिया लेकिन हमारी मांगों को लेकर कुछ नहीं हुआ. अब मैं घोषणा करता हूँ कि 2021 विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी को समर्थन दूंगा. अब मैं एनडीए के साथ नहीं हूँ.

Leave a Reply

Your email address will not be published.