मुंबई/गोवा: महाराष्ट्र में जिस तरह से भाजपा को उसके ही पैंतरों में मात देकर एनसीपी-शिवसेना-कांग्रेस ने सरकार बनाई है, उसके बाद विपक्ष बहुत उत्साहित है. भाजपा ने जिस तरह से आख़िरी दम तक और हर क़ीमत पर सत्ता हासिल करने की कोशिश की उसके बाद उसकी साख भी काफ़ी डैमेज हुई है. भाजपा के चाणक्य माने जाने वाले अध्यक्ष अमित शाह इस बार कहीं न कहीं चूक गए. जहाँ महाराष्ट्र में भाजपा की जीत हार में बदल गई वहीँ अब कांग्रेस,एनसीपी और शिवसेना पास के गोवा को लेकर भी ऐसे बयान दे रहे हैं जो भाजपा को बग़ले झाँकने पर मजबूर कर रहे हैं.

गोवा के मुद्दे पर सुबह शिवसेना नेता संजय राउत का बयान आया था. अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने भी एक बड़ा बयान दिया है. जब उनसे पुछा गया कि दूसरे क्वार्टर में आये जीडीपी फिगर की चर्चा पार्लियामेंट में कांग्रेस करेगी तो उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि इस बारे में पहले ही संसद में डिस्कशन हुआ है..लेकिन मुझे लगता है कि राजनीति ने कुछ हद तक हमें ओवर-टेक कर लिया है.

वो आगे कहते हैं कि अब आप जानते हैं कि एक नया सूरज महाराष्ट्र में उग गया है और हमें उम्मीद है कि नया सूरज गोवा में भी उगेगा.इसके पहले शिवसेना नेता संजय राउत ने भी इस बारे में बयान दिया. राज्यसभा सांसद संजय राउत ने यह कहकर हलचल पैदा कर दी है कि महाराष्ट्र की राजनीति ख़त्म हुई अब हम सभी गोवा में व्यस्त हैं. उनके इस बयान के बाद गोवा में भी हलचल देखी गई.

हालाँकि गोवा के उपमुख्यमंत्री मनोहर अजगांवकर ने दावा किया कि वह सपने देख रहे हैं। गोवा के लोगों के पास एक मज़बूत सरकार है. अजगाँवकर के बयान से साफ़ है कि उनको भी चिंता ज़रूर है. जहाँ एक ओर महाराष्ट्र में शिवसेना ने सरकार बनाने में कामयाबी हासिल की है तो वहीं दूसरी ओर अब वो गोवा में नज़र कर के भाजपा को और परेशान कर सकती है.गोवा भाजपा के नेताओं में राउत के बयान के बाद चिंता लगी.

असल में राउत ने भी ये बयान तब दिया जब गोवा फॉरवर्ड पार्टी के अध्यक्ष और गोवा के पूर्व डिप्टी मुख्यमंत्री विजय सरदेसाई ने अपने तीन विधायकों के साथ शिवसेना के साथ गठबंधन कर लिया. इसके बाद राउत ने कहा कि एक नया राजनीतिक गठबंधन गोवा में बन रहा है जैसे महाराष्ट्र में बना..जल्दी ही गोवा में भी आपको चमत्कार दिखाई देगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.