मुंबई: महाराष्ट्र से बड़ी ख़बर आ रही है. लम्बी खींचतान के बाद महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना का गठबंधन होने पर रज़ामंदी बन गई है.सूत्रों के मुताबिक़ गहन सोच-विचार के बाद कांग्रेस पार्टी शिवसेना को समर्थन देने के लिए राज़ी हो गई है. पार्टी ने अपने विधायकों को जयपुर से महाराष्ट्र बुला लिया है. इसके साथ ही सियासी गलियारे रौशन हो गए हैं और चहल-पहल तेज़ हो गई है.

राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी ने सरकार बनाने का न्योता राज्य की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा को दिया था लेकिन भाजपा को मिले तीन दिन के वक़्त के अंतिम दिन पार्टी ने कहा कि वो सरकार बनाने में असमर्थ है. इसके बाद राज्यपाल ने दूसरी सबसे बड़ी पार्टी को एक दिन का समय दिया, शिवसेना ने बहुमत होने की बात की लेकिन कुछ और समय माँगा जिसे देने से राज्यपाल ने इनकार कर दिया. इसके बाद राज्यपाल ने एनसीपी को सरकार बनाने का न्योता दिया.

एनसीपी को भी एक दिन का समय मिला लेकिन पार्टी ने तीन दिन का समय माँगा. एनसीपी और शिवसेना दोनों एक साथ नज़र आ रहे हैं लेकिन कांग्रेस ने अभी तक तय नहीं किया था कि वो शिवसेना को समर्थन दे या नहीं. अब ऐसी ख़बर आ रही है कि कांग्रेस शिवसेना को समर्थन देने के लिए राज़ी है. अब इन तीनों दलों को राज्यपाल से मिलकर उन्हें यक़ीन दिलाना होगा कि ये राज्य को एक स्थिर सरकार दे पाएँगे. इसके बाद राज्यपाल सरकार बनाने के लिए इस नए गठबंधन को बुला सकते हैं.

इसके पहले शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने प्रेस वार्ता करके कहा था कि सरकार बनाने को लेकर शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी से बातचीत करती रहेगी.ठाकरे ने कहा कि अगर बीजेपी और महबूबा मुफ़्ती वैचारिक मतभेदों को दूर करते हुए साथ काम कर सकते हैं तो मौजूदा स्थिति में उनकी पार्टी कांग्रेस और एनसीपी के साथ काम करने का फ़ॉर्मूला खोज लेंगे. इसके साथ ही ऐसी भी ख़बर है कि सरकार बनाने को लेकर नया फ़ॉर्मूला इन तीनों दलों ने खोज लिया है.

क्या है नया फ़ॉर्मूला?
ऐसी ख़बरें मीडिया में आ रही है कि तीनों दलों ने सरकार बनाने को लेकर एक सहमति बना ली है. स्थिर सरकार रहे इसलिए तीनों दल सरकार में शामिल होंगे. बताया जा रहा है कि शिवसेना और एनसीपी दोनों का मुख्यमंत्री ढाई-ढाई साल के लिए होगा जबकि कांग्रेस को पाँच साल के लिए उपमुख्यमंत्री पद दिया जाएगा. इसके पहले कांग्रेस बाहर से समर्थन देने को राज़ी थी लेकिन एनसीपी के मनाने पर कांग्रेस ने ये राय बनाई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.