ममता बनर्जी को बदनाम करने के लिए भाजपा ने वा’यरल की ये वीडियो, जब सच आया सामने तो…

January 25, 2021 by No Comments

देश के स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जयंती दिवस पर कोलकाता के विक्टोरिया हॉल में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जहां देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शिरकत करने पहुंचे थे। लेकिन इस कार्यक्रम में कुछ ऐसा हुआ कि मंच पर आने से पहले ही ममता बनर्जी ने भाषण देने से इनकार कर दिया।

दरअसल मंच पर मौजूद ममता बनर्जी जैसे ही भा’षण देने के लिए उठीं। वहां उपस्थित कथित भाजपा समर्थकों ने ‘जय श्रीरा’म’ के नारे लगाने शुरू कर दिए, जिसपर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पारा चढ़ गया और उन्होंने भाषण देने से इंकार कर दिया। इस मुद्दे पर बयानबाजी का दौर जारी है।

 

कार्यक्रम के अगले ही दिन पश्चिम बंगाल भाजपा के ऑफिशियल सोशल मीडिया हैंडल से एक वीडियो शेयर किया गया है। जिसमें राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस्लाम से जुड़ी एक आया तो पढ़ती हुई नजर आ रही हैं। भाजपा ने वीडियो शेयर कर ममता बनर्जी पर तु’ष्टीकर’ण का आरोप भी लगाया है। दरअसल सोशल मीडिया पर डाली गई इस वीडियो के एक हिस्से को गलत दावे के साथ शेयर किया गया है।

पूरी वीडियो ममता बनर्जी इ’स्ला’म की आयत के अलावा अन्य ध’र्मों के श्लो’क और मंत्र भी पड़ती नजर आ रही हैं। भाजपा ने अपने सोशल मीडिया पर इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा था कि अगर सीएम ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल सरकार के समारोह में इ’स्ला’म से जुड़ी प्रार्थनाएं बोल सकती हैं। तो उन्हें जय श्री रा’म से क्या समस्या है ? तु’ष्टिक’रण ? उन्होंने बंगाल को ब’दना’म किया और नेताजी की सालगिरह के मौके पर अपने आचरण से नेताजी की विरासत का अ’पमान किया।

किन्तु ममता बनर्जी के इस वीडियो की स’च्चाई तब सामने आई जब एक यूजर ने 27 सेकंड का एक और वीडियो शेयर किया। जिसमें ममता बनर्जी अन्य ध’र्मों के लोग पढ़ते हुए नजर आ रहे हैं। दरअसल ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर यह वीडियो साल 2018 में अपलोड किया गया था। 21ः36 मिनट का वीडियो गुजरने पर ममता बनर्जी हिं’दू ध’र्म से जुड़े श्लो’क पढ़ती हैं। 22 मिनट गुजरने के बाद इ’स्ला’म से जुड़ी प्रार्थना, इसके बाद ममता ने इसाई और सि’ख ध’र्म से जुड़ी प्रार्थनाएं भी मंच पर बोलीं।

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *