मांझी ने दी चेतावनी, मेरी बात मानें नीतीश वर्ना हमारी पार्टी करेगी.. मचा ह’ड़कंप..

December 14, 2020 by No Comments

हाल ही में बिहार में हुए विधानसभा चुनाव के बाद नीतीश कुमार को एनडीए की तरफ से एक बार फिर मुख्यमंत्री बना दिया गया है। लेकिन इस बार मुख्यमंत्री बनने के बाद नीतीश कुमार की नैया डगमगा रही है। पहले से ही भाजपा का प्रेशर झेल रहे नीतीश कुमार के सामने एक नई मुसीबत खड़ी हो चुकी है।

बताया जा रहा है कि बिहार की सत्ता में एनडीए की साझेदार पार्टी हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने अब नीतीश कुमार पर ह’मला बोलना शुरू कर दिया है। जीतन राम मांझी का कहना है कि उन्होंने मुख्यमंत्री रहते बेरोजगारों को रोजगार देने की योजना शुरू की थी। लेकिन नीतीश कुमार ने उसे फाइलों में ही बंद कर दिया है।

 

दरअसल मांझी ने आज अपनी पार्टी के राष्ट्रीय परिषद की बैठक बुलाई थी। बैठक को संबोधित करते हुए मांझी ने कहा कि वे कुछ दिन और सीएम रहते तो बिहार की सूरत बदल देते। उन्होंने इस दौरान कहा है कि “हम कुछ दिन और मुख्यमंत्री होते तो बेरोजगार जिन्हें नौकरी का मौका नहीं मिला ठेकेदारी में आरक्षण 75 लाख तक निश्चित देते पर अफसोस कि सरकार ने 25 से 50 लाख किया पर अभी भी संचिका में ही है। अगर 75 लाख आरक्षण दिया जाता तो युवा अपने परिवार के लिए ठेकेदारी के माध्यम से काम करते.”

इसके साथ ही उन्होंने नीतीश कुमार पर बेरोजगारों को ठेकेदारी देने की योजना को फाइलों में ही लटकाने का आरोप लगाया है। उन्होंने अपनी पार्टी के नेताओं को कहा है कि उन्हें भी बेरोजगारों के लिए काम करना होगा। इसके लिए अगर हमें सड़क पर भी उतरना पड़े तो हम उतरेंगे। जीतनराम मांझी का कहना है कि वह खुद भी सड़क पर उतरने को तैयार है।

विधानसभा चुनाव में जीतन राम मांझी की पार्टी के चार विधायक जीत कर आये हैं. जीतन राम मांझी ने इसका श्रेय बीजेपी या जेडीयू को नहीं दिया। उन्होंने कहा कि आज उनकी पार्टी मजबूत स्थिति में है तो इसके लिए हमारे कार्यकर्ताओं का अथक मेहनत और परिश्रम है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *