राज ठाकरे ने मज्जिद में लाउडस्‍पीकर की आवाज को बंद करवाने की मांग उठाई उसके बाद कर्नाटक के वरिष्‍ठ ने कहा इससे बच्‍चों और मरीजों को तकलीफ होती है। वहीं अब एक्‍ट्रेस और भाजपा सांसद रूपा गांगुली ने इसके संंबंध में बयान देते हुए सवाल उठाया है।

भाजपा सांसद रूपा गांगुली ने कहा समझ में नहीं आता, क्या धर्म की स्थापना के दौरान हमारे पास लाउडस्पीकर की अवधारणा थी? इसका क्या मतलब है? एक धर्म के अभियान को दूसरों को पाग’ल नहीं बनाना चाहिए।

दिन में 5-10 बार लाउडस्पीकर बजाने का यह सिलसिला जारी नहीं रहना चाहिए।बता दें महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि मुस्लिम बस्तियों में स्थित मदरसों छापेमारी की जाए, यहां कई पाकिस्तानी समर्थक रह रहे हैं।

मुंबई पुलि’स को इस बात की जानकारी है कि यहां क्या हो रहा है। हमारे विधायक उन्हें वोटबैंक के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। इन लोगों के आधार कार्ड तक नहीं है लेकिन विधायक इनके आधार कार्ड बनवा रहे हैं।

वहीं कुछ दक्षिणपंथी समूहों द्वारा मस्जिदों में लाउडस्पीकर के इस्तेमाल के वि’रोध के बीच,कर्नाटक के वरिष्ठ मंत्री केएस ईश्वरप्पा ने कहा लंबे समय से शिकायतें आ रही हैं कि यह छात्रों और मरीजों को सुबह और शाम के समय प’रेशान करता है।

ईश्वरप्पा ने सोमवार ये बयान कर्नाटक के कारवार जिले में दिया। उन्‍होंंने कहा छात्रों और मरीजों के हितों को ध्यान में रखते हुए मुस्लिम समुदाय को विश्वास में लेकर इस मुद्दे का कोई भी समा’धान निकाला जा सकता है।