मौलाना अरशद मदनी का बड़ा बयान, ऐसे मदरसे तोड़ दिए जाएं हमें कोई….

September 19, 2022 by No Comments

उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से प्रदेश भर के गैर मान्यता प्राप्त मदरसों का सर्वे जारी है,और सर्वे टीम लगातार मदरसों मे जाकर पूछताछ कर रही है,इसी कड़ी में विश्व प्रसिद्ध इस्लामी शिक्षण संस्थान दारूल उलूम देवबंद ने प्रदेश भर के मदरसो के प्रबंधको के साथ एक मीटिंग की,और सरकारी सर्वे का स्वागत किया है ।

वही इस मीटिंग में कुछ इतिहासिक फैसले भी लिये गये है,जिसमें प्रमुख रूप से मदरसों में हाई स्कूल तक की शिक्षा को ज़रूरी कर दिया गया है। गौर तलब रहे कि दारूल उलूम देवबंद ने सम्बद्ध मदरसो के नाम जारी एक आदेश में कहा है कि सभी मदरसा संचालक अपने मदरसो में अकाउंट आडिट को यकीनी बनाये।

साथ ही साफ सफाई का पूरा ख्याल रखें,इस दौरान दारूल उलूम की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि बाल अधिकारो को देखते हुवे मदरसों में बच्चो की पिटाई बन्द की जाये,और बच्चो के स्वास्थ का पूरा ध्यान रखा जाये,साथ ही हर मदरसे में हाई स्कूल तक की शिक्षा का प्रबंध किया जाये।

दारूल उलूम में भी अगले साल से हाई स्कूल की शिक्षा का प्रबंध किया जायेगा। राब्ता मदारिस ने कहा कि अकाउंट आडिट पर ध्यान दिया जाये और हिसाब किताब सही रखें,अगले साल से खुद दारूल उलूम अपने सम्बद्ध मदरसो में अकाउंट से सम्बंधित जानकारियां लेता रहेगा।

चौकाने वाली बात ये रही कि मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि मदरसों में कोई भी गलत गतिविधियां नहीं होती,अगर कोई मदरसा मस्जिद सरकारी जमीन पर नाजायज कब्ज़ा करके बनाया गया है तो सरकार ऐसे मदरसों को तोड़े, हमें कोई दिक्कत नहीं है साथ ही यह भी कहा गया है कि इस्लाम की हद में रहते हुवे सरकार की हर मुमकिन मदद करें और सर्वे टीम की भी पूरी मदद करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.