मौलाना कलीम सिद्दीकी की मुश्किलें बढ़ी रिमांड को लेकर कोर्ट ने दिया बड़ा फैसला अब ATS….

September 24, 2021 by No Comments

देश में बड़े पैमाने पर धर्मांतरण कराने का आरोप लगा कर मुजफ्फरनगर के मौलाना कलीम सिद्दीकी को यूपी एटीएस ने मेरठ से गिरफ्तार किया था उनके लोगों को कहना है मौलाना मेरठ किसी के यहां मुलाक़ात के लिए आये थे रात में ही मौलाना अपने घर के लिये रवाना हुए थे कि रास्ते में एटीएस ने उनको गिरफ्तार कर लिया था पहले दिन उनके लिए राहत की खबर ये थी एक घंटा की बहस के बाद कोर्ट ने उनको रिमांड पर नही दिया बल्कि कोर्ट कस्टडी में जेल भेज दिया

दोसरे दिन बहस के बाद कोर्ट ने पुलिस कस्टडी रिमांड एटीएस (ATS) को मिल गई है एटीएस के आईजी जीके गोस्वामी ने बताया कि शुक्रवार सुबह 10 बजे से रिमांड शुरू होगी इस दौरान मौलाना कलीम सिद्दीकी को नई दिल्ली शाहीन बाग स्थित उनकी संस्था ग्लोबल पीस सेंटर ले जाया जाएगा जहां सेंटर की तलाशी ली जाएगी और वहां रखे कंप्यूटर, लैपटॉप व अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण व दस्तावेज जांच के लिए जब्त किए जाएंगे।

आईजी ने बताया कि मौलाना कलीम सिद्दीकी को दिल्ली के साथ ही मेरठ और मुजफ्फरनगर भी ले जाया जाएगा जहां मौलाना के ग्लोबल पीस सेंटर के साथ ही जमीयत ए इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट का संचालन करते है और देश के विभिन्न हिस्सों में कई मदरसे भी चलाते है आईजी के अनुसार ग्लोबल पीस सेंटर, जमीयत ए इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट और मदरसों के माध्यम से मौलाना गैर मुस्लिमों को लालच देकर या डरा धमका कर मुस्लिम धर्म में शामिल कराने का काम करते है।

इसके अलावा एटीएस अधिकारियों ने बताया कि मौलाना कलीम सिद्दीकी के पास से 7 देशी और विदेशी सिमकार्ड बरामद हुए हैं उनके मोबाइल फोन और सिमकार्ड का डाटा खंगाला जा रहा है साथ ही मौलाना के ग्लोबल पीस सेंटर और जमीयत ए इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट के बैंक खातों की भी पड़ताल की जा रही है आरोप है बैंक खातों में खाड़ी देशों से धर्मांतरण के लिए रकम भेजी जाती थी उसके खातों में 3 करोड़ रुपये पाए गए हैं जिसमें से डेढ़ करोड़ रुपए एक ही बार में बहरीन से भेजे गए थे यह रकम हवाला के जरिए अवैध रूप से खातों में भेजी गई थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.