नागरि’कता संशो’धन का’नून जब से पास हुआ है तभी से इसका विरो’ध देश भर में जारी है। विद्यार्थी हों, विप’क्ष के नेता हों या आम नागरिक इसके विरो’ध में अपनी आवा’ज़ उठा रहे हैं और रै’लियाँ निका’ल रहे हैं। वहीं स’त्ता प’क्ष भी CAA के फ़ा’यदे गिनाने में पीछे नहीं रह रही। स’त्ता प’क्ष ने तो यहाँ तक ऐलान किया है कि वो घर- घर जाकर लोगों को CAA के बारे में समझाएँगे क्योंकि विप’क्ष इस मु’द्दे पर लोगों को बह’का रहा है।

विरो’ध में चल रही रै’लियों में भी आए दिन हिं’सा की ख़ब’रें सामने आ रही हैं फिर वो जामि’या विश्वविद्यालय हो या उत्तर प्रदेश पुलि’स की स’ख़्ती भी सामने आ रही है। इस माम’ले में विप’क्षी पार्टी के नेता बिलकुल सहम’त हैं कि उन्हें इस क़ा’नून को देश में नहीं आने देना है लेकिन जहाँ स’त्ता पार्टी के कुछ लोग इस क़ा’नून के विरो’ध में बोल रहे हैं वहीं विप’क्षी पार्टी से कुछ लोग सम’र्थन में ब’यान दे रहे हैं।

Mayavati

ऐसा ही एक माम’ला सामने आया जब मध्य प्रदेश के पथेरिया से बहुजन समाज पार्टी की विधा’यक रमाबाई परिहार ने अपनी पार्टी BSP से अल’ग रू’ख अपनाते हुए CAA का सम’र्थन किया। इसका ख़ामि’याज़ा उन्हें तुरं’त भुग’तना प’ड़ा। बता दें कि पार्टी ने कार्रवा’ही करते हुए रामबाई को पार्टी से निल’म्बित कर दिया। BSP सु’प्रीमो मायावती ने इस बारे में ट्वीट कर जान’कारी दी है।

मायावती ने लिखा कि “BSP अनुशा’सित पार्टी है व इसे तो’ड़ने पर पार्टी के MP/MLA आदि के विरू’द्ध भी तुरन्त का’र्रवाई की जाती है। इसी क्रम में MP में पथेरिया से BSP MLA रमाबाई परिहार द्वारा CAA का सम’र्थन करने पर उनको पार्टी से निल’म्बित कर दिया है। उन पर पार्टी कार्यक्रम में भा’ग लेने पर भी रो’क लगा दी गई है”

Ramabai Parihar

अपने अगले ट्वीट में मायावती ने CAA के बारे में अपने वि’चार प्रक’ट करते हुए पार्टी की इस माम’ले में की गयी गतिवि’धियों की जान’कारी देते हुए कहा कि “जबकि BSP ने सबसे पहले इस नागरि’कता संशो’धन का’नून को विभा’जनकारी व असंवै’धानिक बताकर इसका ती’व्र विरो’ध किया। संसद में भी इसके विरू’द्ध वो’ट दिया तथा इसकी वाप’सी को भी लेकर माननीय राष्ट्रपति को ज्ञा’पन दिया। फिर भी विधायक परिहार ने CAA का सम’र्थन किया। पहले भी उन्हें कई बार पार्टी लाइन पर चलने की चेता’वनी दी गई थी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.