तुर्की में 19:5 करोड़ साल पुराना मिला पत्थर, अरबी में बिस्मिल्लाह लिखा देख वैज्ञानिकों भी है’रान, बोले…

February 17, 2022 by No Comments

दुनिया का वजूद कब हुआ इसके बारे में वैज्ञानिक आकलन करते रहते हैं लेकिन तुर्की में वैज्ञानिकों को खु’दाई के दौरान ऐसा पत्थर मिला जिससे वह हैरान वा प’रेशान हो गए आपको बता दें तुर्की में एक खदान से बेहद पुराना संगमरमर पत्थर मिला है जिस पर बि’स्मिल्लाह लिखा हुआ है यह खदान भूमध्यसागरीय प्रांत आंताल्या स्थित है बताया जा रहा है संगमरमर पर बिस्मिल्लाह कु’दरती तौर पर बना हुआ है जबकि इस पत्थर के बारे में कहा जाता है कि 19:5 करोड़ साल पुराना है

उस समय धरती पर डाय’नासोर मौजूद रहते थे तुर्की की सरकारी समाचार एजेंसी Anadolu Agency की रिपोर्ट में बताया गया है कि ये हैरतअंगेज़ खोज अंताल्या कोर्कुटेली जिले के तस्सीगी गांव में अंताल्या मार्बल इंडस्ट्री एंड ट्रेड कंपनी के मार्बल बिजनेस एरिया में की गई है खुदाई करने वाले मजदूरों ने संगमरमर पर जमा जब धूल को हटाया तो उन्हें लगा जैसे संगमरमर के स्लैब पर अरबी अक्षरों में ‘बि’स्मिल्लाह’ लिखा हुआ है।

इसके बाद संगमरमर को विश्लेषण के लिए तुर्की के दक्षिण-पश्चिमी इस्पार्टा प्रांत स्थित सुलेमान डेमिरल विश्वविद्यालय भेजा गया वैज्ञानिकों ने जब इसका अध्ययन किया तो अपने विश्लेषण में उन्होंने एक दिलचस्प बात कही उन्होंने बताया कि संगमरमर संभावित 19:5 करोड़ साल पुराना है और माना जा रहा है इस पर बि’स्मिल्लाह कुदरती तौर पर ज़ाहिर हुआ है ।

वज्ञानिकों के अनुसार समय के साथ संगमरमर के स्लैब पर दिल के आकार के शंख के अवशेषों के टूटने और नष्ट होने की वजह से ये आकृति बनी होगी तुर्की की अक्डेनिज यूनिवर्सिटी फैकल्टी ऑफ थियोलॉजी के डीन अहमत ओगके द्वारा पेश की गई एक वैज्ञानिक रिपोर्ट के अनुसार, संगमरमर पर अरबी की आकृतियां बि’स्मिल्लाह के जैसी हैं जिनका उल्लेख कुरा’न में किया गया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.