पटना. बिहार में जदयू-भाजपा सरकार को हाल ही में राज्य की स्वास्थ व्यवस्था को लेकर आलोचना का सामना करना पड़ा था. केन्द्रीय स्वास्थ मंत्री अश्विनी चौबे को भी उनके बयान को लेकर आलोचना झेलनी पड़ी थी. इसके बाद भी राज्य की नितीश कुमार सरकार बाढ़ के कारण हुई अव्यवस्था को लेकर भी आलोचना में रही. अब एक ऐसी घटना हुई है जो राज्य के सत्ताधारी गठबंधन को सोचने पर मजबूर कर देगी.

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे पर बिहार की राजधानी पटना में दो अज्ञात लोगों ने स्वाही फेंक दी. एक समाचार वेबसाइट में छपी ख़बर के मुताबिक़ स्याही फेंकने के बाद आरोपी युवक दौड़कर फरार हो गए. आपको बता दें कि चौबे डेंगू के मरीज़ों को देखने और वार्डों का निरीक्षण करने पीएमसीएच अस्पताल पहुंचे थे जहां उनके साथ ये घटना हुई.

चौबे निरीक्षण पूरा करके वापिस गाड़ी में सवार होने को ही थे कि उनके साथ ये घटना हो गई. स्वाही चौबे के शरीर के साथ उनकी गाड़ी पर भी गिरी. इन दो युवकों ने काली स्वाही फेंकी. इस घटना के तुरंत बाद चौबे की सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मियों ने इन लड़कों को पकड़ने की कोशिश की लेकिन वो दोनों ही फ़रार हो गए. अश्विनी चौबे इस घटना से विचलित लगे, उन्होंने कहा कि ये वही लोग हैं जो अपराध जगत से नाता रखते हैं..और किसी ज़माने में अपराध के क्षेत्र में काफ़ी आगे थे.

इसके पहले चौबे अस्पताल पहुँचे और वहाँ मरीज़ों का हाल जाना. उन्होंने कहा कि किसी प्रकार से किसी को कोई भी दिक्कत है तो वो यहां बने स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क कर सकते हैं. हम लोग नजर बनाए हुए हैं. उन्होंने कहा कि ऐसी बात नही हैं कि बड़े पैमाने पर डेंगू फैल गया है. लोगों को कही भी घबराने की जरूरत नहीं है.

चौबे ने कहा कि प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री भी नज़र रख रहे हैं. डेंगू बीमा’री है और कोई भी बी’मारी फैलती है लेकिन किसी प्रकार से घबराने की ज़रूरत नही हैं. उन्होंन कहा कि मैं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक भी करूंगा.चौबे के साथ इस घटना के बाद ये समझा जा सकता है कि जनता के एक समूह में भाजपा-जदयू सरकार के प्रति नाराज़गी है जोकि अब सामने आने लगी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.