इस दिग्गज क्रिकेटर ने बताया मुसलमान बनने के बाद जिंदगी में हुए ये बड़े बदलाव, कहा- अल्लाह ने मुझे…

March 11, 2021 by No Comments

पाकिस्तान के दिग्गज क्रिकेटर मोहम्मद यूसुफ को कौन नहीं जानता। दाएं हाथ के इस शानदार बल्लेबाज ने साल 2005 में ईसाई ध’र्म छोड़कर मुसलमान बनने का फैसला लिया था। इस मामले में अब मोहम्मद यूसुफ ने एक इंटरव्यू के दौरान बढ़ाई बात कह दी है।

मोहम्मद यूसुफ ने बताया है कि मुसलमान बनने के बाद उनका खेल पहले से काफी बेहतर हुआ है। मुसलमान बनने के बाद उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में कमाल का प्रदर्शन किया है। मोहम्मद यूसुफ ने साल 2006 में मुसलमान बनने के बाद गजब की बल्लेबाजी की और इसकी शुरुआत भारतीय टीम के खिलाफ हुए एक मैच के दौरान हुई थी। जिसमें उन्होंने 199 गेंदों में 173 रन की पारी खेली थी।

इसके बाद इंग्लैंड के दौरे पर भी उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया। साल 2006 में मोहम्मद यूसुफ ने 99.33 की औसत से 1788 रन बना डाले। इसके साथ ही उन्होंने एक कैलेंडर ईयर में विवियन रिचर्ड्स के रिकॉर्ड तोड़ दिया। साल 2006 में ही मोहम्मद यूसुफ ने 9 शतक लगाए थे। जो कि 1 साल में सबसे ज्यादा टेस्ट शतक लगाने का रिकॉर्ड है। इसके साथ ही उन्होंने 6 शतक लगाकर दिग्गज बल्लेबाज डोनाल्ड ब्रैडमैन के रिकॉर्ड की बराबरी की थी।

आपको बता दें कि मोहम्मद यूसुफ ने एक इंटरव्यू में कहा कि मुझे किसी ने इस्लाम अपनाने के लिए मजबूर नहीं किया। असल में मैं सईद अनवर के बहुत करीब था हम बहुत अच्छे दोस्त थे। मैं सईद के साथ काफी वक्त बिताता था। मैं जब सईद के घर रहता था तो मैंने देखआ कि उनका परिवार बेहद अनुशासन से रहता है और उनका जीवन मुझे काफी शांति भरा लगा।

सईद अनवर अपनी बेटी के इं’तकाल के बाद और ज्यादा धा’र्मिक हो गए। उन्हें देख मुझे भी इ’स्लाम क’बूल करने की प्रेरणा मिली। मोहम्मद यूसुफ का कहना है कि इ’स्लाम कबूल करने के बाद उन पर अल्लाह की रहमत हुई है। उनके अंदर एक अलग सी शांति आई है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *