इंग्लैंड के ऑलराउंडर मोईन अली पर विवादित बयान देकर बांग्लादेश की लेखिका तस्लीमा नसरीन सुर्खियों में हैं. उन्होंने कहा कि, ‘मोईन अली अगर क्रिकेट नहीं खेल रहे होते तो सीरिया जाकर ISIS से जुड़ जाते. मोईन अली ने उनके इस बयान पर रिएक्ट नहीं किया, लेकिन उनके टीम के खिलाड़ियों ने तस्लीमा नसरीन को निशाने पर लिया. इस पूरे विवाद में मोईन अली के पिता मुनीर अली की भी एंट्री हो गई है । तस्लीमा नसरीन के विवादित ट्वीट पर मुनीर अली ने गुस्सा जताया है. मुनीर ने कहा कि तस्लीमा नसरीन का ट्वीट पढ़कर मैं काफी आहत और सदमे में हूं. यदि वह आईने में खुद को देखेंगी तो उन्हें पता लगेगा कि उन्होंने क्या कहा है ।

मुनीर अली ने आगे कहा कि अगर मैं किसी दिन तस्लीमा से मिलूंगा तो मैं उनके मुंह पर बताउंगा कि वास्तव में मैं उनके बारे में क्या सोचता हूं. मुनीर अली के मुताबिक, सच कहा जाए, तो मैं वास्तव में गुस्से में हूं, लेकिन मुझे पता है कि यदि मैं अपने गुस्से पर काबू नहीं रखूंगा तो यह उनके जैसे लोगों के हाथों में खेलने जैसा होगा । मुनीर अली ने विवादित ट्वीट पर तस्लीमा की सफाई को भी खारिज किया. उन्होंने कहा कि अभी के लिए, मैं डिक्शनरी लेकर व्यंग्य का अर्थ खोजूंगा.

बता दें कि तस्लीमा नसरीन ने अपने विवादित ट्वीट पर सफाई देते हुए कहा था कि नफरत करने वालों को पता होना चाहिए कि मोईन अली पर ट्वीट मजाक में किया गया था. पर कुछ लोगों ने मुझे अपमानित करने का एक मुद्दा बना लिया । तस्लीमा नसरीन ने विवादित ट्वीट तब किया, जब हाल ही में मोईन अली ने चेन्नई सुपर किंग्स की जर्सी पर लगे बीयर के लोगों को हटाने की मांग की थी. हालांकि बाद में इस पर CSK के सीईओ काशी विश्वनाथन का बयान आया कि मोईन अली ने लोगो हटाने जैसी किसी चीज की मांग नहीं की ।

मोईन अली के समर्थन में इंग्लैंड टीम के खिलाफ उतर आए. टीम के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने तस्लीमा को जवाब दिया कि क्या आप ठीक हो? मुझे नहीं लगता कि आप ठीक हो? व्यंग्य? कोई भी नहीं हंस रहा, आप भी नहीं, आप कम से कम यह कर सकती हैं कि इस ट्वीट को हटा दें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.