पार्टी में टूट की अटकलों पर भ’ड़के नीतीश सरकार के मंत्री, कहा- आ’ग लगा दूंगा अगर..

July 29, 2021 by No Comments

हाल ही में बिहार की लोक जनशक्ति पार्टी के अंदर खाने एक बड़ी टूट देखने को मिली है। जिसके बाद लोजपा नेता चिराग पासवान पूरी तरह से अलग-थलग पड़ चुके हैं। कई बार यह अटकलें भी लगाई गई हैं कि चिराग पासवान महागठबंधन में शामिल हो सकते हैं। लेकिन ऐसा नहीं हुआ है।

चिराग पासवान अभी भी इस मामले में फैसला लेने की कोशिश कर रहे हैं। इसी बीच विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष मुकेश सहनी ने भी एनडीए के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बिहार विधानमंडल के मॉनसून सत्र के पहले दिन एनडीए बैठक का बहिष्कार करने के बाद जनता दल यूनाइटेड और भारतीय जनता पार्टी की ओर से लगातार मिल रही नसीहत और महागठबंधन की ओर से ऑफर के बीच मुकेश सहनी भ’ड़क गए हैं।

उन्होंने कहा है कि अगर पर्दे के पीछे भी कोई उन्हें तोड़ने की कोशिश करेगा। तो वह पूरे परदे को ही आग लगा देंगे। उनकी पार्टी के विधायक पूरी मजबूती के साथ उनके हैं और उनके साथ खड़े हैं।

वहीं कुछ दिनों पहले पार्टी विधायक डॉ राजीव कुमार द्वारा एनडीए बैठक में शामिल ना होने के फैसले का विरोध करने पर उन्होंने कहा कि वीआईपी ऐसी पार्टी है। जहां पर सभी को बोलने की पूरी आजादी है। कोई भी अपनी राय रख सकता है। बता दें, बिहार में एनडीए के सहयोगी के रूप में बतौर पशुपालन मंत्री सरकार में शामिल मुकेश सहनी पूर्व सांसद फूलन देवी की प्रतिमा यूपी में नहीं लगा पाने के कारण योगी सरकार के खिलाफ निशाना साधने पर चर्चाओं में आए हैं।

उनकी पार्टी मॉनसून सत्र के पहले दिन एनडीए विधायक दल की बैठक में भी शामिल नहीं हुई। जिसके बाद उनकी इस करतूत के बाद भाजपा की ओर से लगातार उन्हें नसीहतें दी जा रही हैं। वहीं, विपक्षी पार्टी की ओर से उनकी पार्टी को कई ऑफर भी मिल रहे हैं।

इतना ही नहीं कांग्रेस की ओर से मुकेश सहनी को महागठबंधन में शामिल होने का न्योता भी मिल चुका है। कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा ने कहा कि यदि मुकेश सहनी में थोड़ी भी गैरत बची है तो उन्हें एनडीए से तुरंत नाता तोड़कर महागठबंधन के साथ आ जाना चाहिए।

इस दौरान जेडीयू और भाजपा द्वारा मिल रही नसीहतों और वीआईपी में टूट की अटकलों को साफ करते हुए मुकेश ने कहा कि उनके विधायक उनके साथ मजबूती से खड़े हैं। कोी भी छिपे तरीके से उन्हें तोड़ने की कोशिश करेगा तो वह मुहतोड़ जवाब देंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *