मऊ जिले की सदर विधानसभा से सुभासपा के टिकट पर मुख्तार अंसारी चुनाव लड़ सकते हैं. इस बात की जानकारी ख़ुद उनके वकील दरोगा सिंह ने अदालत को सौंपे गए एक प्रार्थना पात्र में दी है. प्रार्थना पत्र सौंपा गया है जिसमें यह बताया गया है कि मुख्तार अंसारी इसबार सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी से अपना पर्चा दाखिल करेंगे.

इसी बेसिस पर उनसे मुलाक़ात की इजाज़त अदालत से माँगी गई है.वकील की ओर से दावा किया गया है कि कोर्ट द्वारा इसकी सुनवाई की जा रही है और जल्द ही मऊ Mau कोर्ट द्वारा इसके लिए अनुमति प्राप्त होने की हमें उम्मीद है. सुभासपा के जिलाध्यक्ष रामजीत राजभर का कहना है कि अभी उनकी पार्टी के द्वारा किसी को भी प्रत्याशी बनाए जाने की कोई आधिकारिक सूचना पार्टी या राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा नहीं दी गई है. इसके बारे में उन्हें कुछ पता नहीं है.

उन्होंने कहा कि, पार्टी के द्वारा जो भी निर्णय लिया जाएगा उसके लिए पूरे मन से लगकर चुनाव में उतरा जाएगा. फिलहाल वे जनसंपर्क अभियान में लगे हुए हैं.मुख्तार अंसारी के वकील दरोगा सिंह ने कहा कि उनके लिए कोई नई बात नहीं है. मुख्तार अंसारी सदर विधायक रहें हैं और 6वीं बार लड़ने जा रहे हैं. पांच बार से वो लगातार विधायक हैं.

सुभासपा ने उन्हें अपना प्रत्याशी बनाया है और कोविड को ध्यान में रखते हुए कोर्ट के अनुमति की आवश्यकता है. जेल में आम लोगों के लिए आवागमन बंद है. हालांकि उन्हें चुनाव लड़ने से नहीं रोका जा सकता. हमने प्रार्थना पत्र दिया है जैसे ही अनुमति मिलेगी हम नामांकन दाखिल करा देंगे. उल्लेखनीय है कि सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर कई बयानों में मुख्तार अंसारी का समर्थन भी कर चुके हैं.