नंदीग्राम से हार पर ममता बनर्जी का सनसनीखेज दावा, बोली 4 घंटे तक क्यों हुआ…

May 4, 2021 by No Comments

पश्चिम बंगाल के विधानसभा नतीजों के बाद तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और राज्य के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नंदीग्राम से हार का विषय चर्चा में बना हुआ है। ममता बनर्जी ने नंदीग्राम विधानसभा सीट से हारने के बाद निर्वाचन आयोग पर सवाल उठाए।

अब ममता बनर्जी ने कहा है कि मुझे नंदीग्राम के निर्वाचन अधिकारी ने बताया है कि अगर नंदीग्राम विधानसभा सीट से मतगणना दोबारा किए जाने के आदेश दिए गए। तो उनकी जिंदगी खतरे में आ सकती है। इसलिए रीकाउंटिंग नहीं करवाई गई। यह बात ममता बनर्जी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा है हालांकि ममता बनर्जी ने यह भी कहा है कि नंदीग्राम में चुनाव और के नतीजों को वह कोर्ट में चुनौती देंगी।

ममता बनर्जी ने नंदीग्राम के निर्वाचन अधिकारी द्वारा सीईओ कार्यालय को भेजे एक कथित एसएमएस को सार्वजनिक करते हुए दावा किया कि उन्होंने आशंका जताई थी कि अगर वह फिर से मतगणना के आदेश देते हैं। तो उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने होंगे और आ’त्मह’त्या तक करनी पड़ सकती है।

इसके साथ ही उन्होंने निर्वाचन आयोग द्वारा औपचारिक रूप से घोषणा करने के बाद यह सवाल उठाए हैं कि नंदीग्राम के नतीजे उलट कैसे सकते हैं। सर्वर 4 घंटे तक डाउन क्यों रहा? हम जनादेश का स्वीकार करना चाहते थे। लेकिन अगर एक जगह के नतीजों में गड़बड़ी है। तो जो प्रतीत होता है। उससे परे कुछ है हमें सच्चाई पता लगानी चाहिए।

ममता बनर्जी ने कुछ स्थानों से हिं’सा की खबरों के बीच अपने समर्थकों से शांति बनाए रखने की अपील की और कहा कि किसी के उ’कसा’वे में नहीं आएं। उन्होंने आरोप लगाए कि केंद्रीय बलों ने चुनावों के दौरान टीएमसी समर्थकों पर काफी अत्याचार किए।

उन्होंने कहा, ‘‘परिणाम घोषित होने के बाद भी भाजपा ने कुछ इलाकों में हमारे समर्थकों पर ह’मला किया लेकिन हमने अपने लोगों से किसी के उकसावे में नहीं आने की अपील की और इसके बजाय पुलिस को सूचना देने के लिए कहा।’’

इसके साथ ही ममता बनर्जी ने आरोप लगाया है कि चुनावों के दौरान कुछ पुलिस अधिकारियों ने तृणमूल कांग्रेस के साथ भे’दभाव करते हुए पार्टी के खिलाफ काम किया। चुनाव आयोग पर हमला बोलते हुए उन्होंने यह दावा किया है कि अगर निर्वाचन आयोग ने सहयोग नहीं किया होता। तो भाजपा 50 का आंकड़ा भी राज्य में पार नहीं कर पाती।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *