महाराष्ट्र में NCP तय करेगी किसे मिलेगा मुख्यमंत्री पद, शरद पवार ने लिया..

October 29, 2019 by No Comments

महाराष्ट्र में शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी के बीच सरकार बनाने और उसी को लेकर खीं’चतान जोरों शोरों से चल रही है। इसी बीच शिवसेना के दिग्गज नेता संजय रावत का बयान सामने आया है कि हरियाणा की तरह महाराष्ट्र में कोई दुष्यंत नहीं है। जिसके पिता जेल में हो। हमारे पास सरकार बनाने के कई विकल्प हैं।

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा है कि हमारे पास विकल्प मौजूद है। शिवसेना ने हमेशा सच्चाई की राजनीति की है क्योंकि हमें सत्ता की भूख नहीं है। इसी बीच यह चर्चा भी शुरू शुरू से चल रही है कि महाराष्ट्र में बीजेपी शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर चल रहे घमासान में कोई भी पीछे ह’टने को तैयार नहीं है।

ऐसे में एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के नेतृत्व में 54 सीटें जीतने वाली एनसीपी के हाथों में महाराष्ट्र की चाबी आ सकती है क्योंकि शरद पवार बीजेपी या शिवसेना में से किसी के साथ भी खड़े हो जाए तो सीएम की कुर्सी उसके हाथ में होगी। किंगमेकर की भूमिका में होने के बाद भी एनसीपी प्रमुख शरद पवार से लेकर एनसीपी के तमाम नेता सरकार बनाने से ज्यादा विपक्ष में बैठने को लेकर सहमत हैं। हालांकि छगन भुजबल ने शिवसेना को बीजेपी से नाता तोड़कर एनसीपी के साथ आने का निमंत्रण दिया है।

बताया जा रहा है कि एनसीपी विपक्ष में बैठने पर भी कायम रहती है तो भी शिवसेना के पास बीजेपी के साथ सरकार बनाने के सिवा कोई भी विकल्प नहीं बचेगा। लेकिन शिवसेना महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद को लेकर अपने स्टैंड पर अभी भी कायम है। शिवसेना नेता संजय राउत ने सोमवार को एक बार फिर बीजेपी को गठबंधन ध’र्म निभाने की याद दिलाई और कहा कि बीजेपी को 50-50 फॉर्मूले को निभाना चाहिए।

साथ ही उन्होंने एनसीपी के साथ जाने की अटकलों पर भी अपने पत्ते खोले और कहा कि राजनीति में विकल्प खुले रहते हैं। आपको बता दें कि महाराष्ट्र चुनाव नतीजे के दिन ही एनसीपी नेता छगन भुजबल ने कहा था कि शिवसेना को खुला ऑफर है कि वह हमारे साथ आ कर मुख्यमंत्री का पद लेकर सरकार बनाएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *