महाराष्ट्र में किसकी सर’कार बनेगी ये माम’ला अब और भी पेंचि’दा होते जा रहा है जहाँ एक ओर गव’र्नर ने भाजपा को सर’कार बनाने का न्यो’ता दिया है वहीं भाजपा के लिए बहुम’त साबि’त करना इतना आसान नहीं लग रहा है क्योंकि शिवसेना अपनी श’र्तों पर ही भाजपा के साथ ग’ठबं’धन करने को तैयार है जबकि भाजपा उन श’र्तों को मानना ही नहीं चाहती।

इसी बीच एनसीपी की ओर से बड़ा ब’यान आया है एनसीपी के नेता नवा’ब मलिक ने कहा है कि “महाराष्ट्र के राज्यपाल ने भाजपा को राज्य में सर’कार बनाने का न्यो’ता दिया है..राज्यपाल को ये सुनिश्चित करना चाहिए कि भाजपा के पास मेजो’रिटी है कि नहीं..अगर ऐसा नहीं है तो “हॉ’र्स ट्रे’डिंग” होगी. उन्होंने कहा कि इसके बाद भी ऐसा किया गया है तो हम भाजपा के ख़िला’फ़ सदन में वो’ट करेंगे। मलिक ने आगे कहा कि अगर भाजपा सर’कार गि’रती है तो हम वैक’ल्पिक सर’कार बनायेंगे।”

ये ब’यान इस मु’द्दे पर बड़ा मो’ड़ ला सकता है शिवसेना के बड़े नेता ने NCP प्रमुख शरद पवार से मुला’क़ात भी की थी। पहले जहाँ शरद पवार मी’टिंग से पहले ये कहते नज़र आए कि ज’नता ने भाजपा और शिवसेना को चु’ना है और उन्हें सर’कार बनाना चाहिए। वहीं अब जो ब’यान एनसीपी की ओर से आया है इससे शिवसेना को सम’र्थन देने की बात सामने आ रही है। वहीं शिवसेना की ओर से ये भी कहा गया है कि “बाला साहेब का ये सप’ना था कि शिवसेना से कोई मुख्यमंत्री की कु’र्सी पर बै’ठे और वो इस सपने को पूरा करके ही रहेंगे जिनके लिए उन्हें भाजपा की कोई ज़’रूरत नहीं है।”

इन सारी प’रिस्थि’तियों में भाजपा किस तरह अपनी दा’वेदा’री सि’द्ध करती है ये देखना दिलचस्प होगा साथ ही भाजपा सर’कार बनाने के लिए शिवसेना की श’र्तें मानती है कि नहीं ये भी वक़्त बताएगा। दूसरी ओर नवाब मलिक ने देश में आए एक और बड़े फ़ै’सले पर कहा था कि “अयोध्या माम’ले पर एनसीपी की पहले से ये रा’य रही है कि अदाल’त जो भी फ़ै’सला देगी हम मानेंगे और हम उम्मीद करते हैं कि अब कोई नया माम’ला हिन्दू-मु’स्लिम के बीच नहीं ख’ड़ा होगा।” फ़िलहाल महाराष्ट्र की स’त्ता किसके हाथ आएगी इस पर सबकी नज़रें लगी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.