इस समय बिहार विधानसभा चुनाव काफी चर्चा में हैं। आए दिन चुनाव से संबं’धित खबरें आती रहती हैं। इसी बीच लोजपा का एनडीए से अलग होना भी चर्चा का विषय बन गया। अब इस बारे में लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने सफाई दी है। उन्होंने कहा है कि अकेले चुनाव ल’ड़ने के लिए उनके पिता रामविलास पासवान ने कहा था। उन्होंने बताया कि यह उनके पिता का सपना था, जिसे वह पूरा करने की पूरी कोशिश करेंगे। चिराग ने बताया कि अस्प’ताल जाने से पहले ही तय हो गया था कि एलजेपी बिहार में अकेले चुनाव ल’ड़ेगी।

चिराग पासवान ने कहा, “उनके पिता ने उन्हें कहा था कि जब वो (रामविलास) 2005 में अकेले चुनाव ल’ड़ने का फैसला कर सकते हैं तो तुम (चिराग) क्यों नहीं? तुम तो अभी युवा हो।” चिराग ने आगे कहा, “इसके पीछे पार्टी का जनाधा’र बढ़ाना, पार्टी का प्रसार करना तो मकसद है ही। इससे ज्यादा जरूरी है नीतीश कुमार को सत्ता से बेद’खल करना।” उन्होंने आगे बात करते हुए बताया कि नीतीश कुमार बिहार का विकास कर पाने में नाकाम रहे हैं। लोजपा अध्यक्ष पासवान ने कहा, “उनके पिता ने स्प’ष्ट शब्दों में कहा था कि अगर फिर से पांच साल के लिए नीतीश सीएम बनते हैं तो यह राज्य के लिए एक बहुत बड़ी आ’पदा होगी।”

बिहार एनडीए से लोजपा के अलग होने की बात पर उन्होंने बताया कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय, बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन और बीजेपी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव को पहले से इस बात की जानकारी थीं। वह पिछले महीनों में उनके पिता रामविलास पासवान से मुलाक़ात करते रहते था और इस मु’द्दे पर उनकी बातचीत भी हुई थी। वहीं बीजेपी के कई नेताओं ने कहा कि यह फैसला चिराग पासवान का खुद का है और यदि उनके पिता अभी ज़िं’दा होते तो आज एलजेपी जदयू के खिलाफ मै’दान में नहीं उतर रही होती। लोजपा अध्यक्ष ने कहा कि जब उनकी इस सिलसिले में भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह से बात हुई कि लोजपा जदयू से अलग चुनाव ल’ड़ना चाहती है तो वो ख़ामोश रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.