पटना: बिहार में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. ये बात आम जनता भले न जाने लेकिन राजनीतिक दल जानते हैं और सरकार भी जानती है. इस बात का ख़ास ख़याल रखते हुए अक्सर कई फ़ैसले किए जाते हैं. हालाँकि ये फ़ैसले होने चाहिएँ लेकिन सिर्फ़ चुनाव के समय ही क्यूँ. जी, हम आपको बता रहे हैं कि बिहार में कर्मचारी चयन आयोग ने उर्दू भाषा के जानकारों के लिए नौकरियां निकाली हैं.

प्रभात ख़बर में छपी ख़बर के मुताबिक़,बिहार कर्मचारी चयन आयोग ने राजभाषा सहायक (उर्दू), उर्दू अनुवादक, सहायक उर्दू अनुवादक के पद पर बहाली के लिए आवेदन आमंत्रित किये हैं. अभ्यर्थियों को चार दिसंबर 2019 के पहले निर्धारित प्रारूप के माध्यम से पदों पर आवेदन कर सकते हैं. एक अधिसूचना जारी की गई है जिसके तहत 1505 भर्तियाँ की सूचना दी गई है.

बता दें कि इनमें से 1294 रिक्तियां सहायक उर्दू अनुवादक, 202 रिक्तियां उर्दू अनुवादक और 9 राजभाषा सहायक (उर्दू) पद के लिए है। सहायक उर्दू अनुवादक के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड / विश्वविद्यालय से उर्दू विषय में कम-से-कम 100 अंकों के साथ इंटरमीडिएट / समकक्ष, उर्दू अनुवादक के लिए किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से उर्दू विषय के साथ स्नातक / समकक्ष और राजभाषा सहायक के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से उर्दू विषय के साथ स्नातक / उर्दू में स्नातकोत्तर या समकक्ष है।

अभ्यर्थियों की उम्र सीमा एक अक्तूबर 2019 के आधार पर निर्धारित की जायेगी। राजभाषा सहायक (उर्दू) और उर्दू अनुवादक के लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष है। वहीं, सहायक उर्दू अनुवादक क लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष है। जबकि, अधिकतम उम्र सीमा अनारक्षित वर्ग (पुरुष) के लिए 37 वर्ष, अनारक्षित वर्ग (महिला) के लिए 40 वर्ष, पिछड़ा वर्ग / अत्यंत पिछड़ा वर्ग (पुरुष / महिला) के लिए 40 वर्ष और अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति (पुरुष / महिला) के लिए 42 वर्ष है। इसके लिए आवेदन ऑनलाइन किया जा सकता है. रजिस्ट्रेशन करने और परीक्षा फ़ीस जमा करने की तारीख़ 5 नवम्बर से 30 नवम्बर है. आवेदन पूरा करने की तारीख़ 5 नवम्बर से 4 दिसंबर है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.