इस बार के बिहार विधानसभा चुनाव तीन चर’णों में पूरे होंगे। 28 अक्टूबर को चुनाव के पहले फेज के लिए वोटिंग होने जा रही है, जिसके लिए सभी पार्टियां अपना आखिरी और अहम दांव खेलने में लगी हुई हैं। इसी बीच लोक जनशक्ति पार्टी और पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान च’र्चा में बने हुए हैं। वह चुनाव के शुरुआत से ही नीतीश कुमार के विरू’द्ध दिखाई दे रहे हैं और इसी सिलसिले को कायम रखते हुए उन्होंने चुनाव शुरू होने से पहले ही जेडीयू के खिलाफ बड़ा दां’व खेल दिया है। उन्होंने इस चुनाव में जदयू विधायक की बेटी कोमल सिंह को उम्मीदवा’र बनाया है।

कोमल सिंह 27 साल की हैं और इतनी सी उम्र में राजनीति में क़दम रख लिया है। वह एमबीए ग्रैजु’एट हैं और पहली बार चुनाव ल’ड़ रहीं हैं। बता दें कि कोमल की मां वीणा देवी वैशाली भी लोजपा नेत्री हैं और वह आरजेडी के दिग्गज नेता रहे रघुवंश प्रसाद को हरा चुकी हैं। वहीं कोमल के पिता दिनेश सिंह नीतीश कुमार की पार्टी जानता दल यूनाइटेड के एमएलएसी हैं। बता दें कि कोमल सिंह गायघा’ट विधानसभा सीट से चुनाव ल’ड़ रही हैं। इससे पहले कोमल की मां भी यहां से चुनाव ल’ड़ चुकी हैं, जिसका फायदा कोमल सिंह को मिल सकता है।
Komal Singh
अपने पहले चुनाव में कोमल सिंह जेडीयू के उम्मीदवा’र महेश्वर यादव के खि’लाफ चुनाव में खड़ी होंगी। वह मुजफ्फरपुर जिले की सबसे पढ़ी लगी युवा प्रति’याशी हैं। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान इस चुनाव में खुलेआम सीएम नितीश कुमार को निशा’ना बना रहे हैं और यही वजह है कि वह एनडीए से अलग होकर चुनाव ल’ड़ रहे हैं। इसीलिए उन्होंने अपनी राजनीतिक सोच लगाकर कोमल सिंह को उम्मीदवा’र बनाया है। अब यह देखना काफी दिलचस्प होगा कि चिराग पासवान का यह दांव सफल होता है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.