सियासी गलयारो में एक और चर्चा तेज़ हो गई है उत्तर प्रदेश के चुनाव 2022 को लेकर राजनीति गरमाई हुई है सभी पार्टीया एक दूसरे का साथ पाने में लगी हुई है आजमगढ़ समेत देश के कई राज्यों के विधानसभा चुनाव में सियासी पार्टीयों का समीकरण बिगाड़ने वाली एआईएमआईएम की निगाहें अब यूपी के 2022 विधानसभा चुनाव पर है. उत्तर प्रदेश में भी अपनी जड़ें मजबूत करने के लिए पार्टि के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी गठबंधन की जमीन तैयार कर रहे हैं.इसी क्रम में शनिवार को उन्होंने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के मुखिया शिवपाल यादव से मुलाक़ात की.

दरअसल शनिवार को एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष सहकात अली की बेटी के शादी में शिरकत करने पहुंचे ओवैसी की शिवपाल यादव के साथ लंबी बैठक हुयी. इस दौरान प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि उनकी बैठक ओवैसी के साथ हुई है. उन्होने कहा कि बीजेपी को उखाड़ फेकने के लिए समाजवादी परिवार को एकजुट होने की जरूरत है. मुलाक़ात के बाद शिवपाल यादव ने संकेत दिया कि आगामी विधानसभा चुनाव उनकी पार्टी ओवैसी के साथ गठजोड़ कर लड़ेगी.

शनिवार को देर शाम आज़मगढ़ जिले के माहुल कस्बे में पहुंचे प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव और एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली की बेटी की शादी में शरिक हुए.इस दौरान दोनों नेताओं के बीच मुलाकात भी हुई. शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि वे शादी समारोह में आये हैं, लेकिन उनकी एआईएमआईएम के अध्यक्ष के साथ बैठक हुई है.

वे पहले ही कह चुके है कि समान विचारधार और सभी धर्मनिरपेक्ष शक्तियों के लोग देश और प्रदेश से बीजेपी की सरकार को उखाड़ फेकने का काम करेगें। उन्होने कहा कि वर्ष 2022 चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए समाजवादी परिवार को एकजुट होने की जरूरत है. उन्होने कहा कि वे समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी कह चुके हैं कि सबको इकठ्ठा करें। उसमें हमको भी साथ लें, लेकिन वे अपनी पार्टी का विलय किसी भी सूरत में समाजवादी पार्टी में नहीं करेगें, बल्कि गठबंधन करेगें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.