ओवैसी के साथ आई भाजपा की पूर्व सहयोगी पार्टी, यूपी में बनेगा महागठबंधन..

December 16, 2020 by No Comments

बिहार के बाद अब उत्तर प्रदेश में भी विधानसभा चुनाव के लिए तैयारी शुरू कर दी गई है। उत्तर प्रदेश में भी बिहार की तरह अब नए गठबंधन बनने की उम्मीद बन रही है। आम आदमी पार्टी के बाद अब भारतीय जनता पार्टी से अलग हो चुके पूर्व मंत्री ओम प्रकाश राजभर और ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के साथ आने की संभावना बन रही है।

जानकारी के मुताबिक दोनों की बैठक एक होटल में हो रही हैँ। सूत्रों की मानें तो आगामी चुनाव में जनभागीदारी मोर्चा के साथ गठबंधन पर बात चल रही हैँ। बताया जा रहा है कि सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर से मुलाकात पर असदुद्दीन ओवैसी ने साफ कहा है कि हम दोनों आपके सामने बैठे हुए हैं।

 

हम एक साथ हैं और ओमप्रकाश राजभर के नेतृत्व में चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। यूपी में काफी मु’स्लिम बाहुल्य सीटें होने से ओवैसी को यहां अपनी पार्टी के विस्तार की संभावना ज्यादा दिखाई दे रही है।

ओवैसी की पार्टी ने महाराष्ट्र और बिहार में छोटे दलों से गठबंधन किया और बड़ी कामयाबी हासिल की। यही फ़ॉर्मूला वो दूसरे राज्यों में अपनाना चाहते हैं। हालाँकि राजनीतिक विश्लेषक इस बात पर भी ज़ोर दाल रहे हैं कि जहाँ ओवैसी को इन छोटे गठबन्धनों से फ़ायदा हुआ है। वहीं इनके सहयोगी दलों को कोई ख़ास फ़ायदा नहीं हुआ है।

ओम प्रकाश राजभर भी भाजपा से अलग होने के बाद लगातार अपना बेस वोट बचाने और आगामी विधानसभा चुनाव के लिये कवायद कर रहे हैं। छोटे दलों के गठबंधन को लेकर भी ओम प्रकाश राजभर और शिवपाल यादव कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने जनभागीदारी संकल्प मोर्चा का गठन किया है। इसमें बाब सिंह कुशवाहा की जन अधिकार पार्टी, राष्ट्रीय उदय पार्टी, राष्ट्रीय उपेक्षित समाज पार्टी और जनक्रांति पार्टी शामिल है। बताया जा रहा है कि ओवैसी और राजभर की पार्टी के साथ मायावती की पार्टी भी आ सकती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *